भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। उच्च शिक्षा विभाग ने बीएड कालेजों में प्रवेश कराने की प्रक्रिया को मंगलवार से शुरू कर दिया है। प्रदेश में बीएड के करीब 659 कालेजों ने एनसीटीई से मान्यता ले रखी है। हालांकि अभी तक आगामी सत्र 2022-23 में प्रवेश कराने के लिए विभाग तक 630 कालेज ही पहुंच सके हैं। करीब 29 कालेज काउंसलिंग में भागीदार नहीं करेंगे। इससे उनकी सीटें सूनी रह जाएंगी। विभाग ने अपनी सभी व्यवस्थाओं को आनलाइन कर दिया है। विभाग ने प्रदेश के सभी बीएड कालेजों में प्रवेश कराने संबंधित सभी गतिविधियों को भी आनलाइन कर दिया है।

विभाग ने कालेजों को आगामी सत्र 2022-23 में प्रवेश कराने आनलाइन प्रक्रिया का अपनाते हुए उन्हें मंगलवार 17 मई यानी आज तक सभी जानकारी पोर्टल के माध्यम से भेजने के निर्देश दिए हैं। इसमें प्रदेश 630 कालेजों ने ही भागीदारी की है। अभी भी करीब 29 कालेजों ने अपनी तरफ से इस सत्र में प्रवेश देने के लिए कोई संकेत नहीं दिए हैं। उनके पास सिर्फ आज तक का समय शेष है। इसके बाद उन्हें काउंसलिंग प्रक्रिया में शामिल नहीं किया जाएगा। पिछले वर्ष विभाग की आनलाइन काउसंलिंग में प्रदेश के 539 बीएड कालेज शामिल हुए थे। विभाग ने उनकी 56 हजार सीटों में प्रवेश कराने दिसंबर तक काउंसलिंग का आयोजन किया था। पिछले वर्ष के मुकाबले इस सत्र में प्रवेश देने के लिए करीब 24 नए कालेज शामिल हो सकते हैं। वर्तमान में अभी कुछ कालेज भी काउंसलिंग में भागीदारी करने जोर लगा रहे हैं।

इस सत्र में 24 कालेज नए शामिल होंगे

अभी तक विभाग कालेजों के समस्त प्रकार के दस्तावेजों को देखने के लिए भौतिक तौर पर दस्तावेजों का परीक्षण कमेटी द्वारा कराता था, लेकिन विभाग ने आनलाइन प्रक्रिया को अपनाया है। इसके चलते कालेजों द्वारा पोर्टल पर दी गई जानकारी को विवि संबद्धता देते हुए ओके करेगा। इसके बाद विभाग कालेजों के एनसीटीई से कोर्स की मान्यता और प्रवेश एवं फीस विनियामक समिति द्वारा फीस निर्धारित कराने के पत्र का परीक्षण करेगा। इसके बाद उन्हें काउंसलिंग में शामिल किया जाएगा।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close