भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। सुरक्षित और सेहतमंद खान-पान के लिए प्रदेश में पहली बार भोपाल से गुरुवार से तीन बड़े नवाचार शुरू किए गए हैं। इसमें सबसे अहम है, ईट राइट सोसायटी और मोहल्ला। सोसायटी में परिवारों को चिन्हित कर नौ तरह की गतिविधियां करीब 20 दिन कराई जाएंगी। भोपाल में अभी एक कालोनी का चयन किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री डा. प्रभुराम चौधरी ने गुरुवार को ईदगाह हिल्स स्थित खाद्य एवं औषधि प्रशासन के कार्यालय से शुभारंभ किया। उन्होंने तीन चलित खाद्य प्रयोगशालाओं को भी यहां से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने बताया कि शहर के 25 रेस्टोरेंट में स्वाद संग सेहत और सेहत मित्र बनाने का नवाचार भी शुरू किया गया है। इन सबका एक ही उद्देश्‍य है कि लोग सुरक्षित और सेहतमंद खाना-पीना करें। इस कार्यक्रम के दौरान खाद्य सुरक्षा आयुक्त आकाश त्रिपाठी भी मौजूद थे।

पहला नवाचार : ईट राइट सोसायटी

- इच्छुक परिवारों को पंजीकृत किया जाएगा।

- घरों में फलदार और अच्छे गुुण वाले पौध्ो लगाए जाएंगे।

- बाजार से फोर्टिफाइड यानी जरूरी पोषक तत्व वाली खाद्य सामग्री खरीदना।

- मिलावटी चीजों की घर पर ही जांच करना।

- रेनबो डाइट- विभिन्न रंगों के व्यंजनों वाली थाली तैयार करना, क्योंकि रंगीन व्यंजना में ज्यादा पोष्ाक तत्व होते हैं।

- रंगीन सलाद की प्लेट तैयार करना।

- रसोई में उपलब्ध खाद्य पदार्थों के लेवल का विवरण पढ़ना व नोट करना।

दूसरा नवाचार : सेहत मित्र बनाना

सायन शास्त्र के 100 विद्यार्थियों को खाद्य पदार्थों में मिलावट की जांच के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। वह कालोनियों में जाकर और अपने कालेजों में अन्य लोगों को मिलावट के बारे में जागरुक करेंगे।

तीसरा नवाचार : स्वाद संग भोजन

इसके लिए शहर के 25 रेस्टोंरेंट को चुना गया है। इसके तहत शीर्षक के साथ पौष्टिक भोजनों को अलग से मेन्यू इन होटलों में रहेगा। किस सामग्री में क्या पौष्टिक तत्व हैं। कितनी कैलोरी है। यह सब जानकारी इसमें रहेगी।

प्रदेश में अब 12 मोबाइल लैब

खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अफसरों ने प्रदेश में पहले से ही नौ आधुनिक चलित लैब हैं। तीन और लैब आ गई हैं। इस तरह 12 लैब हो गई है। इनमें मौके पर ही खाद्य पदार्थों की जांच हो जाती है। छपी हुई जांच रिपोर्ट मिलती है। साथ मोबाइल पर वाट्सएप के जरिए भी रिपोर्ट भेजी जाती है। कालोनियों और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर यह लैब जाकर जांच करती हैं।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local