भोपाल। नईदुनिया स्टेट ब्यूरो। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने मध्यप्रदेश सहित छत्तीसगढ़, राजस्थान, पंजाब व पुड्डुचेरी में अपनी सरकार के विधानसभा चुनाव के वचन पत्रों के पालन के लिए कमेटियां बनाई हैं। वहीं, सरकार को वचनों को पूरा कराने और सत्ता-संगठन के बीच तालमेल के लिए समन्वय समिति भी बनाई गई हैं। मध्यप्रदेश के वचन पत्र पर अमल कराने के लिए बनाई गई कमेटी में महाराष्ट्र के पृथ्वीराज चौहान, गुजरात के अर्जुन मोरवड़िया सहित मुख्यमंत्री कमलनाथ और एआईसीसी महासचिव व प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया को शामिल किया गया है।

इधर, समन्वय समिति में दीपक बाबरिया को अध्यक्ष बनाया है और सीएम कमलनाथ के अलावा दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, अरुण यादव, जीतू पटवारी और मीनाक्षी नटराजन को सदस्य बनाया गया है।

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने वचन पत्र जारी किया था, जिस पर सरकार बनते ही अमल करने की प्रतिबद्धता कांग्रेस ने दिखाई थी। इस कड़ी में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ लेने के कुछ घंटे के भीतर ही मंत्रालय पहुंचकर सबसे अहम वचन किसान कर्जमाफी के आदेश पर हस्ताक्षर किए थे। अब तक कर्जमाफी का एक चरण पूरा हो चुका है और दूसरे चरण की शुरुआत हो चुकी है।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने अपने कार्यकाल के सालभर पूरा होने पर यह गिनाया था कि उन्होंने 365 दिन में 365 वचन पूरे कर दिए हैं। हालांकि कुछ विधायक वचन पत्र के वचनों की सरकार को समय समय पर याद दिलाते रहे हैं। हाल ही में नरसिंहपुर जिले की गाडरवारा सीट से विधायक सुनीता पटेल ने एक मेले में भाषण के दौरान कुछ वचन पूरे नहीं कर पाने की पीड़ा व्यक्त की थी तो ग्वालियर पूर्व के विधायक मुन्नालाल गोयल भी सरकार को वचन पत्र के वचन याद दिलाने के लिए विधानसभा के सामने धरने पर बैठ चुके हैं।

वहीं छत्‍तीसगढ़ के लिए बनाई गई समिति के चेयरमैन जयराम रमेश होंगे। मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश कांग्रेस प्रमुख मोहन मरकाम, रनदीप सुरेजवाला और प्रदेश्‍ा कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया समिति के सदस्‍य हैं।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket