भोपाल (राज्य ब्यूरो)। कांग्रेस अब प्रदेश में इंटरनेट मीडिया टीम के माध्यम से सक्रियता बढ़ाएगी। जनहित से जुड़े मुद्दों को आक्रमकता के साथ उठाने वालों को ही संगठन में नियुक्त किया जाएगा। इसके लिए प्रदेश कांग्रेस ने मापदंड तय कर दिए हैं। उधर, प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग ने संभागीय प्रवक्ता भी नियुक्त कर दिए हैं। पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने बताया कि मीडिया टीम के काम को विस्तार देने के लिए संभागीय प्रवक्ताओं को नियुक्ति की गई है। इसी तरह इंटरनेट मीडिया टीम को भी सशक्त बनाया जा रहा है। इसके लिए तय किया है कि अब उन्हें ही टीम में जगह दी जाएगी जो प्रतिदिन पार्टी को चार घंटे से अधिक समय देंगे।

इंटरनेट मीडिया(फेसबुक, टि्वटर और इंस्टाग्राम) पर पांच से अधिक पोस्ट प्रतिदिन सकेंगे। इसके साथ ही फेसबुक पर कम से कम चार हजार, टि्वटर पर दो सौ और इंस्टाग्राम पर पांच सौ फ्रेंड या फालोअर हों। ग्वालियर-चंबल संभाग की इंटरनेट मीडिया टीम इसी आधार पर तैयार की जाएगी। अभी दोनों संभागों की इकाइयां भंग हैं।

उधर, पार्टी ने रेवतीरमण राजूखेड़ी को धार, पूजा चौकसे इंदौर, पंकज शर्मा रतलाम, आरपी सिंह ग्वालियर, अमित तावड़े अशोकनगर, दीप्ति पांडे छतरपुर, निधि श्रीवास्तव दमोह, फिरोज सिद्दीकी और प्रशांत कुमार गुरुदेव भोपाल को संभागीय प्रवक्ता नियुक्त किया है। प्रदेश मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने बताया कि अन्य मीडिया टीम को और विस्तार देने के साथ सशक्त बनाया जाएगा। इंटरनेट मीडिया के सभी मंचों के माध्यम से भ्रष्टाचार और जनहित से जुड़े मुद्दों को तथ्यों के साथ उठाया जाएगा।

समन्वय बनाने कांग्रेस जिलों में तैनात करेगी सह प्रभारी

भोपाल (राज्य ब्यूरो)। विधानसभा चुनाव2023 के लिए कांग्रेस अब सहयोगी संगठनों के बीच समन्वय बनाने जिलों में सह प्रभारी नियुक्त करेगी। इनका काम संगठनों की गतिविधियों की निगरानी करने के साथ मतदान केंद्र प्रबंधन और मतदाता संपर्क अभियान को गति देने का रहेगा। ये प्रतिमाह अपनी रिपोर्ट सीधे प्रदेश अध्यक्ष को देंगे। उधर, नवनियुक्त जिला प्रभारियों और जिला अध्यक्षों की बैठक प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ ने 25 अगस्त को बुलाई है। इसमें विधानसभा चुनाव की तैयारियों संबंधी कार्ययोजना पर विचार होगा। नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव के बाद प्रदेश अध्यक्ष ने सभी जिलों में नए प्रभारी नियुक्त किए हैं। अब इनके सहयोग के लिए सह प्रभारी नियुक्त किए जा रहे हैं।

इनका काम पार्टी के सहयोगी संगठन (महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस, छात्र संगठन, अनुसूचित जाति और जनजाति विभाग के साथ विभिन्न् प्रकोष्ठ) के बीच तालमेल बनाकर संगठन की गतिविधियों को बढ़ावा देने, मतदान केंद्र स्तर पर पांच-पांच समर्पित कार्यकर्ताओं की टीम बनाने, मतदाताओं से संपर्क अभियान का काम देखेंगे। प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने बताया कि जिलों में संगठन की गतिविधियों को गति दी जाएगी। 25 अगस्त को होने वाली कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नगरीय निकाय और जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के परिणामों को लेकर चर्चा होगी।

दरअसल, परिणाम पार्टी की अपेक्षाओं के अनुरूप नहीं रहे हैं। 16 नगर निगमों में से पांच में पार्टी प्रत्याशी महापौर निर्वाचित हुए हैं। नगर पालिका और नगर परिषद में प्रदर्शन संतोषजनक नहीं रहा है। जबकि, पार्षद प्रत्याशियों के चयन में विधायक, जिला इकाई और वरिष्ठ नेताओं की राय को प्राथमिकता दी गई थी।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close