Corona Virus Vaccination in MP भोपाल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। 30 जनवरी 2020- यही वह दिन था, जब देश में कोरोना का पहला केस सामने आया। इसके बाद लगभग साल भर का समय जिस तरह गुजरा, वह अपने आप में इतिहास है। देशवासियों ने ऐसे दिन देखे, जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। इन सबके बीच जिस दिन की हर भारतवासी को प्रतीक्षा थी, वह दिन एक साल से भी कम समय में आज आ ही गया है। 30 जनवरी 2020 लोगों के बीच भय पैदा करने वाला दिन था, तो 16 जनवरी 2021 देश के लोगों के बीच से इस डर को खत्म करने का, नई उम्मीदों का, नए सपने बुनने का और कोरोना पर जीत का दिन है।

शनिवार को कोरोना टीकाकरण अभियान की देश भर में शुरुआत हो रही है। प्रदेश में टीकाकरण सुबह 10.30 बजे से शुरू होगा। प्रदेश में 150 केंद्रों पर हर दिन 15 हजार कर्मचारियों को टीका लगाया जाएगा। हफ्ते में चार दिन सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शन‍िवार को टीकाकरण होगा। चार हफ्ते में 2.25 लाख लोगों को टीका लगाया जाएगा। इसमें निजी व सरकारी अस्पतालों में काम करने स्वास्थ्यकर्मी व अन्य कर्मचारी शामिल हैं।

टीका लगवाने के लिए हितग्राहियों को शुक्रवार शाम पांच से छह बजे के बीच एसएमएस भेज दिए गए। जिस सीरियल नंबर से कोविन पोर्टल में स्वास्थ्यकर्मियों के नाम दर्ज हैं उसी क्रम से टीका लगवाने के लिए एसएमएस भेजा गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश में टीकाकरण का शुभारंभ सिंगरौली से शनिवार सुबह 10:30 बजे करेंगे।

हर जिले में बड़े डॉक्टरों को पहले लगेगा टीका

मुख्यमंत्री शि‍वराज सिंह चौहान ने सबसे पहले सफाईकर्मियों को टीका लगाने को कहा है। इसके बाद हर शहर में बड़े डॉक्टरों को ब्रांड एंबेसडर के तौर पर टीका लगाया जाएगा। भोपाल में चिरायु मेडिकल कॉलेज के चेयरमैन डॉ. अजय गोयनका, कोविड-19 के लिए राज्य सलाहकार डॉ. लोकेंद्र दवे, गांधी मेडिकल कालेज भोपाल की डीन डॉ. अरुणा कुमार व सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी को टीका लगाया जाएगा।

इस तरह होगी निगरानी

-राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के कार्यालय में बने कोरोना कंट्रोल एवं कमांड सेंटर से प्रदेश भर में निगरानी की जाएगी। यहां पर स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख अधिकारी मौजूद रहेंगे। वे देखेंगे कि किसी को दुष्प्रभाव तो नहीं हो रहा है।

- टीका लगने पर किसी तरह का दुष्प्रभाव होता है तो इसकी निगरानी के लिए एम्स की शिश्ाु रोग विभाग की अध्यक्ष डॉ.शिखा मलिक की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई है। सभी जिलों में इसी तरह से कमेटी बनी है।

सभी केंद्रों पर पहुंची वैक्सीन

टीकाकरण के लिए फोकल पाइंट (अस्पतालों में टीका रखने के लिए बनाए गए कोल्ड रूम) पर वैक्सीन पहुंच गई। जिन अस्पतालों में वैक्सीन रखने की सुविधा नहीं है वहां पर पास के दूसरे फोकल पाइंट पर वैक्सीन कैरियर में टीका भेजा जाएगा।

ये भी खास..

- जेपी अस्पताल भोपाल व इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज वेबकास्टिंग से केंद्र से जुड़ेंगे।

- भोपाल के जेपी अस्पताल और इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज को वेबकास्टिंग के जरिये दिल्ली से जोेड़ा गया है। दोनों जगह बड़ी स्क्रीन लगाई गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण यहां दिखाया जाएगा। देश में ऐसे 62 केंद्रों को चुना गया है। प्रधानमंत्री टीका लगवाने वाले कुछ कर्मचारियों से बात भी कर सकते हैं।

-चार लाख 16 हजार निजी व सरकारी स्वास्थ्यकर्मियों का लगेगा टीका

- पांच लाख छह हजार डोज 'कोविशील्ड" के मिले हैं प्रदेश में

- 150 केंद्रों पर चार दिन में 57 हजार लोगोें को लगेगा टीका।

- 170 केंद्रों पर 50 हजार लोगों को दूसरे हफ्ते में लगेगा टीका।

- चार करोड़ वैक्सीन डोज रखने की क्षमता है प्रदेश में।

- सुबह नौ बजे से पांच बजे तक होगा टीकाकरण।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags