भोपाल । Coronavirus Bhopal Update योग गुरु बाबा रामदेव को दवाओं के क्लीनिकल ट्रायल की अनुमति देने पर कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीएम) ने आपत्ति उठाई है। पार्टी ने आरोप लगाया है कि ऐसा करके सरकार ने हजारों जिंदगियों को खतरे में डाल दिया है।

पार्टी ने इंदौर कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी की है। पार्टी के राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि मुख्यमंत्री के साथ बैठक के बाद बाबा रामदेव को दवाओं का ट्रायल प्रदेश के कोरोना संक्रमितों और अन्य पर करने की अनुमति देना गंभीर अपराध है।

वे कहते हैं कि सामान्यतः दवाओं का प्रयोग और परीक्षण चूहों, गिनी पिग्स सहित अन्य जीवों पर किया जाता है। बाबा को अनुमति देकर सरकार ने लोगों को इस श्रेणी में ला दिया है। सिंह ने आरोप लगाया है कि यह बाबा के संस्थानों से महंगे उत्पाद खरीदकर आर्थिक लाभ पहुंचाने की साजिश है।

गौरतलब है कि बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना संक्रमण की स्थिति पर चर्चा कर रहे थे, जिसमें योग गुरु बाबा रामदेव को भी बुलाया गया था। इसी दौरान योगगुरु बाबा आयुर्वेद और प्रणायाम के बारे में सभी को जानकारी दी।

इसके बाद सभी सीएमएचओ से कहा गया कि उन्हें यदि आयुर्वेद के संबंध में भी बाबा रामदेव से कुछ पूछना हो तो वे पूछ सकते हैं। इस दौरान एक डॉक्टर के सवाल पर बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को तोड़ने में अश्वगंधा एवं गिलोए अत्यंत कारगर हैं।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस