भोपाल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Coronavirus in Bhopal दुनिया कोरोना से लड़ाई लड़ रही है, लेकिन मध्य प्रदेश में एक अजीब स्थिति बन गई है। कोरोना की रोकथाम करने वाला स्वास्थ्य विभाग ही इसका एपीसेंटर बन गया है। देश में मप्र ऐसा पहला राज्य बन गया है जहां कोरोना के सबसे ज्यादा 22 पॉजिटिव स्वास्थ्य विभाग के है। हैरत की बात तो यह है कि सोमवार को भोपाल में जो 20 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं, उनमें से 10 स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारी हैं। इनमें दो डॉक्टर हैं। इससे स्वास्थ्य महकमें में हड़कंप मच गया है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के संपर्क में आने वाले लोग और उनके परिजन होम क्वारंटाइन में चले गए हैं। ये लोग जहां-जहां रह रहे हैं उनके क्षेत्रों को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर बैरिकेडिंग की जा रही है।

तीन आरक्षक व एक की पत्नी भी पॉजिटिव आई

इधर, तीन आरक्षक और विगत दिनों पॉजिटिव पाए गए आरक्षक की पत्नी सहित अन्य लोग भी पॉजिटिव आए हैं। यह सभी आरक्षक जमातियों के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं।

भोपाल के ऐशबाग थाने में पदस्थ आरक्षक वीरेंद्र चौधरी की शनिवार को कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आने के बाद पत्नी और बच्चों के सैंपल लिए गए। इसकी रिपोर्ट सोमवार को आई।

इसमें वीरेंद्र कुमार की पत्नी ज्योति चौधरी भी कोरोना की पॉजिटिव आई है। वहीं ज्योति चौधरी की सहेली व टीटी नगर आरक्षक प्रभुराम की पत्नी रजनी अहिरवार की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। जहांगीराबाद में पदस्थ आरक्षक मोहम्मद सादिक और उसका सात साल का बेटा मोहम्मद कासिद की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

जहांगीराबाद थाने में ही पदस्थ धर्मेंद्र सिंह की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इधर, रविवार को आरक्षक कमलेश तिवारी के साथ रहने वाला बटालियन का आरक्षक मुकेश सिंह की रिपोर्ट भी सोमवार को पॉजिटिव मिली है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना