भोपाल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Coronavirus in Bhopal स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ आईएएस अधिकारी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। शुक्रवार को उनकी दूसरी जांच रिपोर्ट भी आ गई, जिसमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। उन्हें उपचार के लिए निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया है।

आईएएस अधिकारी को संक्रमण की वजह से सतपुड़ा भवन में बने कोरोना वायरस के लिए राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम के कई अधिकारियों को भी संक्रमण की आशंका बढ़ गई है। वहीं मंत्रालय में पदस्थ कई प्रमुख सचिव सहित सात से ज्यादा वरिष्ठ आईएएस अधिकारी भी एहतियातन आईसोलेशन में चले गए हैं।भोपाल में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 9 हो गई है।

संचालनालय में ली थी बैठक स्वास्थ्य विभाग के ये आईएएस अधिकारी पिछले दिनों संचालनालय में लगातार बैठक ले रहे थे। मध्य प्रदेश पब्लिक हेल्थ सप्लाई कॉर्पोरेशन और आयुष्मान भारत योजना के कार्यालय में भी उनकी बैठकें हुई थी। मुख्यमंत्री और प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में कई बैठकों में भी शामिल हुए।

उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद आईएएस अफसरों, स्वास्थ्य संचालनालय के अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप है। बताया जा रहा है कि आईएएस अधिकारी कुछ दिन पहले बेंगलुरु से आए थे। उन्होंने कुछ कंपनियों के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात की थी। इस कारण यह साफ नहीं हो रहा है कि उन्हें संक्रमण कैसे हुआ?

गुरुवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, इसके बाद फिर से उनकी जांच कराई गई। यह रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। आईएएस अधिकारियों के लिए गए सैंपल जेपी अस्पताल के डॉक्टरों की टीम ने आईएएस अधिकारियों की कोरोना वायरस की जांच करने के सैंपल लिए हैं। इनकी रिपोर्ट शनिवार को आने की उम्मीद है। इन अफसरों में कुछ प्रशासन अकादमी, कुछ होटल और कुछ अपने घरों में आइसोलेशन में है।

इसमें कई प्रमुख सचिव स्तर के अधिकारी भी हैं। संचालनालय के पांच अफसरों को बुखार स्वास्थ्य संचालनालय में एक एडिशनल डायरेक्टर, एक ज्वाइंट डायरेक्टर, कोरोना वायरस के लिए काम करने वाली एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम के दो डिप्टी डायरेक्टर व एक अन्य उप संचालक बुखार से पीड़ित है।

सभी के सैंपल कोरोना वायरस की जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। स्वास्थ्य संचालनालय को शुक्रवार को पूरी तरह से बंद कर सभी कक्षों को सैनिटाइज कराया गया। शनिवार से संभवतः 50 फीसदी अधिकारी, कर्मचारी ही रोटेशन में काम करेंगे। स्वास्थ्य संचालनालय के कई अधिकारी, कर्मचारियों के क्वारंटाइन होने से कोरोना वायरस के नियंत्रण में दिक्कत आएगी।

जांच के लिए खत्म हुई किट

स्वास्थ्य संचालनालय से एक आईएएस अफसर समेत संयुक्त संचालक, उपसंचालक व अन्य कर्मचारी सुबह से ही जांच कराने जेपी अस्पताल पहुंच गए। यहां स्वास्थ्य जांच के बाद 85 लोगों के कोरोना वायरस के सैंपल जांच करने लिए हैं। शाम को भी कुछ संयुक्त संचालक व उपसंचालक जांच कराने पहुंचे लेकिन वायरल ट्रांसपोर्ट मीडिया (वीटीएम) किट खत्म होने की वजह से कई लोग बिना जांच लौटे। रात 8 बजे दोबारा किट मंगाई गई, इसके बाद कुछ अधिकारियों के सैंपल लिए गए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना