भोपाल (नईदुनिया स्टेट ब्यूरो)। Coronavirus in Madhya Pradesh : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर देशभर में चल रहे 21 दिनों के लॉकडाउन की अवधि 14 अप्रैल को समाप्त हो रही है। अभी तक यह तय नहीं है कि लॉकडाउन पर आगे क्या फैसला होगा लेकिन जिस तरह की तैयारी शुरू हुई है उससे संकेत मिले हैं कि निर्धारित अवधि बीतने पर इसे समाप्त किया जा सकता है।

अगर लॉकडाउन समाप्त हुआ तो एक-दूसरे से दूरी बनाए रखने की चुनौती बनी रहेगी। पड़ोसी राज्य छत्त्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तो प्रधानमंत्री से अंतरराज्यीय परिवहन पर रोक लगाने की मांग करके देशभर का ध्यान आकर्षित किया है। प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए लोग लॉकडाउन समाप्त होने का इंतजार कर रहे हैं। 14 अप्रैल केबाद ट्रेनों और बसों में टिकटों की बुकिंग शुरू हो गई है।

लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भीड़ बढ़नी स्वाभाविक है। चूंकि इस दौरान देश भर में कोरोना वायरस के पीड़ितों की संख्या लगातार बढ़ रही है इसलिए खतरे भी उसी अनुपात में बढ़ रहे हैं। जैसे-जैसे कोविड-19 वायरस के टेस्ट बढ़ेंगे इनकी संख्या भी बढ़नी तय है।

संक्रमितों की संख्या में निरंतर वृद्धि होने से वातावरण प्रदूषित होने की आशंका बढ़ती जा रही है। ऐसी स्थिति में एकाएक भीड़ बढ़ने से अब तक की सतर्कता प्रभावित होगी और व्यापक स्तर पर वायरस फैलने से कोई रोक नहीं सकेगा। इसकेलिए ठोस रणनीति बनाने के साथ ही अभी से सरकारी स्तर पर तैयारी की जानी चाहिए।

जमातियों के चलते और बढ़ा खतरा

इस दौरान तब्लीगी जमात से लौटे जायरीनों के संक्रमण का दायरा बढ़ने से भी नई चुनौती खड़ी हुई है। मध्य प्रदेश के जिन इलाकों से जमाती दिल्ली के मरकज में पहुंचे थे, उनमें ज्यादातर संक्रमित पाये जा रहे हैं। देश के कई राज्यों में तो विशेष सतर्कता बरती जा रही है।

छग सीएम भूपेश बघेल ने पीएम को पत्र लिखकर यह आशंका जता दी है कि अगर 14 अप्रैल के बाद रेल, सड़क और हवाई यात्रा शुरू हुई तो छत्त्तीसगढ़ में अन्य राज्यों के संक्रमित आ सकते हैं। यह चुनौती सिर्फ छत्त्तीसगढ़ के लिए ही नहीं बल्कि देश के अन्य राज्यों के लिए भी बनी हुई है।

लॉकडाउन खत्म नहीं हुआ तो भी बढ़ेगी परेशानी

देशभर में 21 दिनों के लॉकडाउन से रोजमर्रा की जरूरतों की आपूर्ति का संकट पहले से ही खड़ा है। अगर यह अवधि आगे बढ़ी तो खाद्य सामग्री से लेकर जरूरतों के विभिन्न सामानों का संकट खड़ा हो जाएगा। केमिस्ट नवीन श्रीवास्तव कहते हैं कि इसके लिए चरणवार व्यवस्था बनाने की जरूरत है ताकि सामानों की आपूर्ति भी हो सके और लोगों को सुरक्षित रखा जा सके।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना