Madhya Pradesh News: भोपाल। नवदुनिया स्टेट ब्यूरो। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने सोमवार रात प्रदेश की जनता के नाम संबोधन दिया। इस दौरान लव जिहाद, मिलावटखोरों, कानून-व्यवस्था तोड़ने वालों को अल्टीमेटम देते हुए उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा। प्रेम की आड़ में बेटियों की जिंदगी से खेलने वालों को सख्त सजा दी जाएगी। गुंडे-बदमाशों और मिलावटखोरों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। कई मुद्दों पर मुख्यमंत्री ने काफी तीखे तेवर दिखाए।

लव जिहाद को लेकर उन्होंने कहा कि प्रेम की आड़ में शादी और फिर धर्मांतरण की साजिश सफल नहीं होने देंगे। बेटियों को नरक में नहीं जाने देंगे। हम इस पर कानून बनाने जा रहे हैं। विधानसभा के अगले सत्र में हम विधेयक ला रहे हैं और इसे पारित भी करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सुशासन हमारा मूल मंत्र है। हमारी सरकार सज्जनों के लिए फूल से कोमल है तो दुर्जनों के लिए वज्र से कठोर है। माफिया, रसूखदार, सट्टेबाज, गुंडे-बदमाशों को छोड़ेंगे नहीं। अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इन्हें नेस्तनाबूद करें। पिछले दिनों इंदौर, भोपाल, मंदसौर, आगर, नीमच, जबलपुर, सतना और उज्जैन में कड़ी कार्रवाई की गई है। राज्य सरकार सीएम हेल्पलाइन और समाधान ऑनलाइन को पुन: प्रभावी ढंग से शुरू कर रही है। प्रदेश में मिलावटखोरों को सबक सिखाने के लिए मिलावट से मुक्ति अभियान प्रारंभ किया गया है। चौहान ने कहा कि गरीबों को योजनाओं का लाभ सहजता से मिले, यह राज्य सरकार सुनिश्चित करेगी। मैदानी स्तर पर योजना का क्रियान्वयन और जनता की समस्याओं से अवगत होने के लिए मैं औचक निरीक्षण करूंगा।

किसान प्रदेश की आत्मा

चौहान ने कहा कि किसान प्रदेश की आत्मा हैं। किसानों को किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी ने किसानों और कृषि की उन्न्ति के लिए तीन कानून बनाए। इससे किसान को अपनी फसल बेचने की स्वतंत्रता मिलेगी। चाहे वह फसल मंडी में बेचे या मंडी के बाहर बेचे। उसे घर बैठे फसल के अच्छे दाम मिलेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीदी की। अभी धान, ज्वार और बाजरा का समर्थन मूल्य पर उपार्जन किया जा रहा है। जो फसलें खराब हुई हैं, उसके लिए राहत सहायता और मुआवजा राशि किसान के बैंक खाते में डाली जाएगी। तीन दिसंबर को पांच लाख किसानों के बैंक खाते में राशि डाली जाएगी। चार हजार स्र्पये राज्य सरकार दो किस्तों में हर साल किसान को देगी।

अभी मास्क ही वैक्सीन है

उन्होंने कहा कि प्रदेश के कुछ जिलों में कोरोना का संक्रमण फिर बढ़ा है। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, रतलाम, धार, विदिशा जिलों में अधिक सतर्कता की जरूरत है। खुशी की बात है कि वैक्सीन जल्दी आने की संभावना भी बढ़ गई है, लेकिन अभी जब-तक वैक्सीन नहीं आ जाए तब तक किसी प्रकार की ढिलाई न बरतें। सावधान रहे, मास्क लगाएं। मास्क ही अभी वैक्सीन है।

प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने का आह्वान

चौहान ने आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने का आह्वान किया। उन्होंने विकास की नई यात्रा प्रारंभ करने, लोकल को वोकल बनाने, स्थानीय भाई-बहनों द्वारा बनाई वस्तु का उपयोग करने, खरीदने और स्व-सहायता समूहों द्वारा बनाई गई वस्तुओं का उपयोग करने का आग्रह किया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस