- कई दिनों से हो रही बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त

कलारा। नवदुनिया प्रतिनिधि

कई दिनों से हो रही तेज बारिश से राजधानी के सभी नदी-नाले उफान पर हैं। इससे कलारा गांव भी काफी प्रभावित है। पारुआ नदी कलारा से होती हुई पार्वती नदी में जाकर मिलती है। यह नदी उफान पर है। इससे कलारा के लोगों का सीहोर और भोपाल से संपर्क कट गया है।

कलारा के पास भोपाल जिला एवं सीहोर जिला की सीमा लगी हुई है। इन जिलों में आने-जाने के लिए सड़कें हैं। तेज बारिश के कारण लोग घरों में कैद हो गए हैं। कलारा से भोपाल जाने वाले मुख्य मार्ग की सड़क संपर्क भी कट गया है। नदी उफान पर है। इस कारण सड़क से आवागमन पूरी तरह से बंद है। इससे एक दर्जन से भी अधिक गांव प्रभावित हो रहे हैं। इस नदी पर पुल होना चाहिए, लेकिन यहां पर छोटा स रपटा बना हुआ है। इसी से लोगों का भोपाल आना-जाना होता है। थोड़ी सी बारिश में रपटे पर पानी आ जाता है और यह मार्ग बंद हो जाता है। ग्रामीणों का कहना है कि इस रपटे को पार करते समय कई मोटरसाइकिल पानी में बह गई है और अब तक उन लोगों की ग्रामीणों की मदद से जान बचा ली गई है। हर साल इस रपटे से चार से पांच मोटरसाइकिलें बह जाती हैं फिर भी इस ओर प्रशासन का ध्यान अब तक नहीं गया है।