- चार जोन-चार रिपोर्टर : नवदुनिया लाइव

- पुलिस-प्रशासन की सख्ती का मिला-जुला असर

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

इंदौर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने के बाद एहतियातन भोपाल में भी प्रशासन ने लॉक डाउन को लेकर सख्ती बरतनी शुरू कर दी। इसके लिए शहर को चार जोन में बांटा गया। लॉक डाउन को लेकर प्रशासन की सख्ती कहीं ज्यादा तो कहीं नगण्य दिखी। नए शहर में सड़कें खाली रहीं, हालांकि यहां पुलिस की सख्ती नहीं थी। वहीं पुराने भोपाल में पुलिस सड़क पर निकलने वाले लोगों की संख्या भी ज्यादा थी और पुलिस की सख्ती भी। नवदुनिया के चार रिपोर्टर्स ने चारों जोन को लाइव रिपोर्ट किया।

--

नया शहर : बैरिकेड्स लगाकर सड़क से नदारद हुई पुलिस

जगह : आईएसबीटी। बैरीकेड्स लगे हैं, लेकिन अस्थाई चौकी से पुलिस गायब थी। होशंगाबाद रोड खाली पड़ी थी, लेकिन थोड़ी-थोड़ी देर में इक्का-दुक्का लोग आना-जाना कर रहे थे। नए शहर में सड़कों पर जगह-जगह बैरिकेड्स तो लगा दिए, लेकिन ज्यादातर स्थानों पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी नदारद हैं। सड़कों पर दौड़ रहे दोपहिया और चार पहिया को रोकने वाला कोई नहीं था। एमपी नगर चौराहे पर पुलिस चौकी तो खुली हुई थी, लेकिन एक भी पुलिसकर्मी नहीं था। बोर्ड ऑफिस चौराहे से एमपी नगर थाने की तरफ जाने वाली सड़क पर दोनों तरफ बैरिकेड्स तो लगे हुए थे, लेकिन सिर्फ एक ही पुलिसकर्मी दूर से यहां से गुजरने वाले वाहनों पर नजर रख रहा था। न्यू मार्केट, बिट्टन मार्केट क्षेत्र से गुजर रहे वाहनों को रोकने वाला कोई नहीं था।

---

कोलार : पुलिस को सड़क पर देख गलियों से गुजरते रहे लोग

मंगलवार दोपहर तीन बजे। बीमाकुंज से लेकर कजलीखेड़ा तक पुलिस ने 11 चेकिंग प्वाइंट लगाकर रखे थे। सड़कों पूरी तरह से सन्नाटा पसरा था। राजहर्ष कॉलोनी के गेट पर बाइक पर सवार लोग घूमने निकले, पुलिस को देखकर वे वापस अंदर चले गए। पुलिस ने सर्वधर्म के पास एक बाइक सवार को रोका तो वह मां की दवा लेने की बात कहने लगा। दवा का पर्चा देखकर पुलिस ने उसे जाने दिया। एक अन्य व्यक्ति को रोककर पुलिस ने बाहर निकलने का कारण पूछा तो कहने लगे- सर ऐसे ही आ गया था। पुलिस ने फटकार उसे वापस भेजा। पुलिस व्यवस्था को चेक करने डीआईजी इरशाद वली भी अपनी टीम के साथ पहुंचे।

---

बैरागढ़ : पास में टिफिन नहीं था, पुलिस से कहा- मम्मी के लिए अस्पताल खाना लेकर जा रहा हूं

जगह : हलालपुरा बस स्टैंड। सर मेरी मम्मी अस्पताल में भर्ती है उन्हें खाना देने अस्पताल जा रहा हूं प्लीज छोड़ दीजिए। लाकडाउन का सख्ती से पालन शुरू होते ही सड़क पर निकले लोगों ने पुलिस और नगर सुरक्षा समिति के सदस्यों के सामने कुछ इसी तरह के तर्क दिए। बैरागढ़ जोन में लॉकडाउन का अब सख्ती से पालन कराया जा रहा है। हर चौराहे पर पुलिस तैनात है। बैरागढ़ बस स्टेंड पर सड़क पार रहे बाइक सवार सुनील सोनगरा को पुलिस ने रोककर पूछा कहां जा रहे हो। जवाब मिला मम्मी को खाना देने अस्पताल जा रहा हूं। पुलिस कर्मियों ने पूछा- खाना कहां है तो कहने लगा बस मिलने जा रहा हूं। पुलिस ने अस्पताल में फोन कर जानकारी ली, फिर उसे जाने दिया। कुछ लोगों ने कहा मैं सब्जी लेने निकला था। कुछ ने कहा घर में अनाज नहीं था। पुलिस ने पूरी तरह संतुष्ट होने के बाद ही वाहनों को जाने दिया। चंचल चौराहे पर तैनात महिला सब इंस्पेक्टर प्रियंका राय ने बताया कि बेवजह घूमने के लिए लोग कई तरह के बहाने बना रहे थे। हमने उन्हें समझाकर घर भेजा।

---

पुराना भोपाल : 70 प्वाइंट में लगाई पुलिस, फिर भी जारी रही लोगों की आवाजाही

राजधानी का पुराना शहर। समय सुबह 9 बजे सभी दुकानें बंद। वाहनों की आवाजाही भी बंद रही। जैसे-जैसे 12 बजे लोगों ने अपने घरों से निकलना शुरू कर दिया। दोपहर होते-होते लोग अपने दो पहिया वाहन से शहर में घूमते नजर आए। इधर, प्रशासन और पुलिस ने करीब एक दर्जन प्वाइंट लगाकर 70 लगातार लोगों को रोकने और टोकने का काम जारी रहा। पुलिस के प्वाइंट देखकर लोग तंग गलियों से इधर-उधर बाइक दौड़ते हुए नजर आए। इधर, फल, सब्जी व किराना की दुकानें भी खुली रही लेकिन अन्य दिनों की जगह मंगलवार को कम ही लोग दिखाई दिए। तलैया थाना से लेकर इतवारा तक लोग पैदल घूमते नजर आए जबकि बैरिकेट्स लगाकर लोगों को घरों के अंदर रहने की समझाइश दी जा रही थी। दोपहर को इकबाल मैदान के सामने तलैया थाना पुलिस ने गाने गाकर लोगों को घरों में रहने की समझाइश दी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस