प्लेटफार्म नंबर एक पर 29 फरवरी से शुरू होगा इमरजेंसी क्लीनिक

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

भोपाल रेलवे स्टेशन पर इममरेंसी में यात्रियों को फौरन इलाज मिल सकेगा। इसके लिए 24 घंटे यहां डॉक्टर मौजूद रहेंगे। प्लेटफार्म नंबर एक पर वीआईपी गेट के पास एक कक्ष में क्लीनिक शुरू किया जाएगा। यहां जरूरी दवाएं व कुछ जांच उपकरण भी रखे जाएंगे। 13 फरवरी को यहां रैंप ढहने के बाद घायलों के इलाज में देरी का बात सामने आई थी। इसके बाद रेल प्रशायन ने यहां क्लीनिक शुरू कर डॉक्टर बैठाने की तैयारी की है।

अभी स्टेशन में या ट्रेन में किसी व्यक्ति के बीमार या घायल होने पर रेलवे अस्पताल से डॉक्टर बुलाए जाते हैं। रेलवे अस्पताल स्टेशन से करीब दो किमी दूर है, जिससे डॉक्टरों के पहुंचने में देरी होती है। इसी तरह से स्टेशन पर कोई हादसा होता है तो घायलों को प्राथमिक उपचार के लिए एंबुलेंस बुलाकर रेलवे अस्पताल भेजा जाता है। एंबुलेंस आने व घायल को अस्पताल पहुंचाने में आधे घंटे बेकार हो जाते हैं। रैंप ढहने पर घायल हुए यात्रियों को भी इसी तरह से रेलवे अस्पताल ले जाया गया था। बाद में उन्हें हमीदिया और चिरायु अस्पताल शिफ्ट किया गया था। इस घटना से सबक लेते रेल प्रशासन स्टेशन पर ही प्राथमिक इलाज की सुविधा शुरू करने जा रहा है। इसके लिए रेल प्रशासन ने एक निजी अस्पताल से अनुबंध किया है। क्लीनिक में बीपी व श्ुागर की जांच के साथ जरूरी दवाएं व इंजेक्शन उपलब्ध रहेगा।

पहले भी शुरू हुआ था क्लीनिक

करीब पांच साल पहले भी भोपाल स्टेशन के एक नंबर प्लेटफार्म पर एक क्लीनिक शुरू किया गया था। चिरायु मेडिकल कॉलेज ने इसके लिए निःशुल्क डॉक्टर उपलब्ध कराए थे। इसके बाद कॉलेज प्रबंधन ने अपने डॉक्टर वापस ले लिए, जिससे क्लीनिक बंद हो गया।

Posted By: Nai Dunia News Network