-सिंधी मेला समिति और प्रिंट पार्टनर नवदुनिया के सहयोग से सुंदर वन नर्सरी में होगा महोत्सव

- भोपाल गर्ल्स स्कूल में चार स्टेप सीखने के बाद महिलाओं ने की आर्ट रिहर्सल

भोपाल। नवदुनिया रिपोर्टर

सिंधी मेला समिति की ओर से नवदुनिया के सहयोग से आयोजित सांस्कृतिक गरबा महोत्सव में इस बार बच्चे, युवा और महिलाएं सिंधी गीतों के साथ हिंदी और गुजराती गीतों की स्वर लहरियों के बीच झूमने की तैयारी कर रहे हैं। महोत्सव का यह 13 वां साल है। इसमें नवदुनिया प्रिंट पार्टनर है।

पंचवटी कालोनी स्थित भोपाल गर्ल्स स्कूल में शनिवार को बच्चों, युवक, युवतियों के साथ ही गृहिणियों ने भी गरबे की ट्रेनिंग ली। प्रशिक्षक दयानिधि मोहंता ने बताया कि अधिकांश प्रतिभागी अब तक चार स्टेप सीख चुके हैं। मां अंबे की स्तुति गान के बीच युवा सिंधी, हिंदी और परंपरागत गुजराती धुनों के बीच ट्रेंड हो रहे हैं। डांडिया का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है।

-घरों से बाहर निकलीं हाऊस वाइवस

सांस्कृतिक गरबे के प्रति युवाओं एवं किशोर उम्र के बच्चों के साथ ही हाऊस वाइवस में भी गजब का उत्साह है। गृहिणियां ट्रेनिंग में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। सेंटर प्रभारी रितु जयसिंघानी व भारत जिंदवानी के अनुसार ट्रेनिंग लेने वालों में बड़ी संख्या में महिलाएं भी हैं। कुछ महिलाएं अपने बच्चों के साथ गरबे में भाग लेंगे। महिलाओं एवं युवाओं ने ग्रुप बनाने शुरू कर दिए हैं। वंशिका मेघानी की अगुवाई में जयमाता दी ग्रुप पार्टिसिपेट करेगा। इस ग्रुप में दीपिका, मानसी, ज्योति, प्राची, श्वेता, काव्या, पलक एवं सौम्या नागरानी आदि शामिल हैं। युवकों ने पबजी ग्रुप बनाया है। इसमें विकास रोहरा, करन हीरानी, हरीश रामचंदानी, कृतिका आसूदानी एवं रौनक कोटवानी आदि शामिल हैं।

-इन स्थानों पर चल रही है ट्रेनिंग

संत हिरदाराम हाल, दुबई सिंधी महिला मंडल धर्मशाला गांधीनगर, भोपाल गर्ल्स स्कूल, ग्लोबस ग्रीन, प्रभूनगर ईदगाह हिल्स, अटलराम धर्मशाला, साईर् सतराम धाम सिंधी कालोनी, कर्मचारी भवन गीतांजलि चौराहा, सिंधु दर्शन भवन सोनागिरी भेल, परफेक्ट प्लाजा बीमा कुंज कोलार एवं झूलेलाल मंदिर कोहेफिजा में गरबा प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

वर्जन-1

इंजॉय करने की पूरी तैयारी है

यह उत्सव सांस्कृतिक माहौल में मनेगा। गरबा एक ऐसा माध्यम है, जिसमें सबको स्तुति के साथ झूमने का अवसर भी मिलता है। हमने इंजॉय करने की पूरी तैयारी की है। मेरा यह चौथा साल है। इस साल कुछ नए स्टेप सीखे हैं।

- आशी ग्वलानी, गरबा पार्टिसिपेंट

वर्जन-2

नए स्टेप के साथ नया अंदाज भी

इस वर्ष मैं एक साल के गैप के बाद आई हूं। इस बार नए स्टेप के साथ गरबे का नया अंदाज होगा। हम मिलकर एक ग्रुप बनाया है। ग्रुप एक अलग छटा बिखेरता नजर आएगा। प्रेक्टिस में कोई कमी नहीं छोड़ी है।

- वंशिका मेघानी, पार्टिसिपेंट

वर्जन-3

उत्साह और उमंग से मनेगा पर्व

गरबा महोत्सव भक्ति के साथ उत्साह और उमंग का पर्व है। यह मेरा पहला साल है। चार स्टेप सीखे हैं। अब डांडिया सीखना है। उत्सव शुरू होने का इंतजार है। थीम बेस्ड रिसर्हल में हम उत्साह से भाग लेंगे।

- करन गंगवानी, पार्टिसिपेंट

फोटो- निर्मलजी के पास हैं।

--------

सिंधु महोत्सव में भगवंती नावाणी के गीतों को सुरीले स्वर दिए लता ने

- बैरागढ़ के नंदवानी आडिटोरियम में सिंधु महोत्सव का सुरीला आगाज

भोपाल। नवदुनिया रिपोर्टर

मानव सेवा के प्रतीक संत हिरदारामजी की जयंती के उपलक्ष्य में शनिवार को साधु वासवानी स्कूल के नंदवानी आडिटोरियम में दो दिनी सिंधु महोत्सव शुरू हुआ। मुंबई से आई सिंधी स्वर कोकिला लता भगतानी ने गुजरे जमाने की महान गायिका स्व. भगवंती नावाणी के गीतों को स्वर देकर महोत्सव को यादगार बनाया।

महोत्सव का आयोजन मप्र सिंधी साहित्य अकादमी ने किया है। अकादमी के निदेशक एचआर अहिरवार, साहित्यकार राकेश शेवानी, सिंधी साहित्य सेवी गुलाब जेठानी एवं साध्वी द्रोपदी धनवानी ने दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया। साध्वी द्रोपदी ने कहा कि बैरागढ़ में प्रवेश करते ही संतजी के सेवा कार्यों की सुगंध आने लगती है। उनकी प्रेरणा से ही मैंने सुखमनी साहब के पाठ शुरू किए। संतजी कहते थे गुरुवाणी ही आपके सारे दुख दर्द दूर कर सकती है।

-लाल मुंहिजी पत रख जां सदां झूलेलालण

लता ने भजन संध्या की शुरुआत सिंधी सुखमनी गायन के साथ ही। लाल मुंहिजी पत रख जां सदां झूलेलालण, हथु मत्थे करे एवं जिए मुंहिजी सिंध सहित भगवंती के कई गीतों को हुबहू उनकी आवाज में स्वर दिए। सिंधी कलाम सिक में औ सिक में पर दर्शकों न खूब तालियां बजाईं। कार्यक्रम में वरिष्ठ शिक्षाविद् विष्णु गेहाणी, गोपाल गिरधानी, गुलाब जेठानी एवं महेश खटवानी सहित अनेक लोग उपस्थित थे। महोत्सव के दूसरे दिन रविवार को सिंधी फिल्म हा मां बि सिंधी आहियां फिल्म का प्रदर्शन किया जाएगा।

फोटो- नंदवानी भवन में सिंधी गीतों को स्वर देती लता भगतानी।

- कार्यक्रम में शामिल गणमान्य नागरिक।

--