Decision :भोपाल ( नवदुनिया प्रतिनिधि )। नए सत्र में विद्यार्थियों के प्रवेश को लेकर उच्च शिक्षा विभाग ने गाइडलाइन जारी कर दी है। इसमें बनाए गए नियमों पर सवाल खड़े हो रहे हैं। दरअसल, उच्च शिक्षा विभाग ने प्रवेश्ा केलिए जो सर्कुलर जारी किया है, उसमें अपराध में लिप्त छात्रों को अब कॉलेजों में प्रवेश्ा नहीं देने की बात कही गई है। इस प्रवेश नीति के जारी होते ही बवाल मच गया है। संगठन के कई पदाधिकारियों ने आपत्ति जताई है। जानकारी के मुताबिक इसे लेकर जल्द ही संशोधित आदेश जारी हो सकता हैं। नियमों के संज्ञान में आते ही यूथ कांग्रेस मिडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने कड़ी आपत्ति ली है। त्रिपाठी ने बयान जारी कर कहा कि छात्र नेताओं का भविष्य चौपट होने की कगार पर है। प्रिंसिपल के हाथों में छात्रों का भविष्य दे दिया गया है। अपराधिक प्रवृत्ति वाले चुनाव जीतकर विधानसभा और संसद तक पहुंच सकते हैं, लेकिन छात्रों को दाखिला नहीं मिलेगा। अगले महीने से करीब 17 लाख छात्रों के दाखिला लेने की प्रक्रिया होगी। वहीं, प्रांतीय शासकीय महाविद्यालयीन प्राध्यापक संघ के महासचिव आनंद शर्मा का कहना है कि कॉलेजों में प्रवेश के समय यह नियम शुरू से रहा है। इसमें कुछ नया नहीं है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local