मंदसौर/भोपाल/टीकमगढ़ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दुनियाभर में मुस्लिम समुदाय द्वारा किए जा रहे फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के विरोध की आग मध्य प्रदेश भी पहुंच गई है। शुक्रवार को मंदसौर जिला मुख्यालय पर मुस्लिम समुदाय ने सांकेतिक विरोध किया। साथ ही पशुपतिनाथ मंदिर रोड स्थित गुदरी गेट के बाहर सड़क पर फ्रांसीसी राष्ट्रपति का पोस्टर सड़क पर बिछा दिया। इस फोटो में राष्ट्रपति के मुंह पर जूते का निशान भी बना हुआ था। सड़क पर बिछाए गए इस पोस्टर पर से कुछ देर तक लोग पैदल और वाहनों से निकलते रहे। सूचना मिलने पर पुलिस ने इसे तुरंत हटाया। पोस्टर करीब 10-15 मिनट तक सड़क पर लगा रहा। शहर कोतवाली टीआइ गोपाल सूर्यवंशी के मुताबिक पोस्टर किसने लगाया, फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है।

भोपाल में विधायक मसूद सहित 200 लोगों पर प्रकरण दर्ज

मध्य प्रदेश की राजधानी स्थित इकबाल मैदान पर गुरुवार दोपहर फ्रांस के राष्ट्रपति का विरोध करने सैकड़ों लोग एकत्रित हुए थे। इन्होंने भोपाल मध्य क्षेत्र के विधायक आरिफ मसूद के नेतृत्व में कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करते हुए नारे लगाए व फ्रांस का राष्ट्रीय ध्वज जलाकर विरोध किया। इस पर तलैया थाना में विधायक मसूद सहित करीब 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। प्रदर्शन में शहर काजी मुश्ताक अली नदबी, मुस्ती-ए-शहर अबुल कलाम कासमी भी शामिल थे। प्रदर्शन को पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा नेता उमा भारती ने राष्ट्रद्रोह करार दिया है।

टीकमगढ़ में भी निकाला जुलूस, 738 लोगों पर मामला दर्ज

ईद मिलादउन्नबी पर पुलिस की बिना अनुमति के जुलूस निकाला गया। इस पर सिटी कोतवाली पुलिस ने 40 लोगों के विरुद्ध नामजद व 600 अन्य के विरुद्ध धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया है। इसके अलावा दिगौड़ा थाना पुलिस ने 13 नामजद और 85 अन्य के विरुद्ध मामला दर्ज किया। कैमरे की रिकॉर्डिंग देखी जा रही है, उसके अनुसार नाम बढ़ाए जाएंगे।

इस मामले में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा है कि मध्य प्रदेश शांति का टापू है। इसकी शांति को भंग करने वालों से हम पूरी सख्ती से निपटेंगे। इस मामले में 188 आइपीसी के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा, वो चाहे कोई भी हो।

इकबाल मैदान में भोपाल में मध्य क्षेत्र के विधायक आरिफ मसूद के नेतृत्व में हुए प्रदर्शन के दौरान कई लोग मास्क नहीं लगाए थे। सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन भी नहीं किया गया। भीड़ के कारण पीरगेट, कमला पार्क जाने वाले मार्ग पर ट्रैफिक जाम हो गया था। इससे लोग काफी परेशान हुए।

प्रदर्शन में शहर काजी मुश्ताक अली नदबी, मुस्ती-ए-शहर अबुल कलाम कासमी ने भी फ्रांस के राष्ट्रपति का विरोध कर सामूहिक दुआ की। जिला प्रशासन को दिए ज्ञापन में कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति माफी मांगें। विधायक मसूद ने भारत सरकार से फ्रांस से सभी तरह के संबंध तोड़ने की अपील की है। बता दें कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने पैगंबर हजरत मोहम्मद की शान के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की है। इससे दुनिया भर के मुस्लिम समुदाय में नाराजगी है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस