Devarshi Narad Journalism Award:, नवदुनिया प्रतिनिधि। नारद मुनी संवाददाता थे, एक जगह का संवाद दूसरी जगह पहुंचाते थे। तीनों लोकों में उनका संवाद था, देवता और दानव सभी देवर्षि नारद का सम्मान करते थे। उनके सारे क्रियाकलापों का उद्देश्य लोककल्याण ही होता था। उन्होंने कहा कि समाज के हित में पत्रकारिता करें, तभी सार्थक होगा। यह बात राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह कार्यवाह मनमोहन वैद्य ने विश्व संवाद केंद्र मध्यप्रदेश द्वारा पत्रकार देवर्षि नारद की जयंती पर रविंद्र भवन में आयोजित पत्रकारिता जगत के प्रतिष्ठित पत्रकारिता सम्मान समारोह में कही। उन्होंने कहा कि विश्व पटल पर भारत की भूमिका पर बात करने के लिए भारत की विशेषता को समझना आवश्यक है। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि जो समाज के हित में है, अन्याय का विरोध करना है। जुल्म का दिल दहल जाए इतनी कड़ी भाषा में लिखेंगे, क्योंकि यह समाज मेरा है मैं उसका अंग हूं। उन्होंने पत्रकारों से भारत के लिए समर्पित और समाज के हित में चिंतन करने की बात पर ध्यान देते हुए पत्रकारिता धर्म निभाने की बात कही। इसके साथ ही उन्होंने पत्रकारिता सरकारों की आधार के साथ आलोचना करने की बात पर भी जोर दिया। डा. वैद्य ने समाज को अपना मानकर पत्रकारिता करने की बात कही। कार्यक्रम की शुरुआत गीत संगीत, सरस्वती वंदना व दीप प्रज्जवलित कर की गई। इस दौरान कथक के माध्यम से सरस्वती वंदना वत्सला चौबे द्वारा प्रस्तुत की गई। इसके बाद अतिथि सम्मान एवं पत्रकारिता जगत के प्रतिष्ठित सम्मान का वितरण किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार विजय त्रिवेदी रहे। समारोह में प्रदेश के प्रिंट, इलेक्ट्रानिक मीडिया अन्य माध्यमों के संपादक, वरिष्ठ पत्रकार, उप संपादक, फोटो पत्रकार, स्तंभ लेखक, शिक्षाविद, युवा, विद्यार्थी एवं पत्रकारिता में रूचि रखने वाले लोग शामिल हुए।

इन्हें किया गया है सम्मानित

इस समारोह में वर्ष 2020 एवं 2022 के देवर्षि नारद पत्रकारिता पुरस्कार एक साथ प्रदान किए गए। इनमें देवर्षि नारद पत्रकारिता पुरस्कार नवदुनिया भोपाल की वरिष्ठ संवाददाता अंजली राय (वर्ष 2020) व विदिशा नवदुनिया के ब्यूरोचीफ अजय जैन (वर्ष 2022) के लिए प्रदान किया गया। इसके अलावा अन्य संस्थानों के वरिष्ठ संवाददाता राहुल शर्मा, सागर के श्रीकांत त्रिपाठी और वर्ष 2022 के लिए प्रवीण श्रीवास्तव, प्रीति जैन, भीमसिंह मीणा एवं रचित दुबे को पुरस्कार प्रदान किया गया।

नारद मुनी की तरह हिम्मत वाले पत्रकार बनें

कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार विजय त्रिवेदी ने कहा कि भूमि से देवलोक तक समाचार पहुंचाने वाले पत्रकार हैं नारद मुनी थे। वे वह पत्रकार हैं, जिसमें हिम्मत है, जो भगवान विष्णु को कमियां बताता है कि आप के राज में हो क्या हो रहा है। उन्होंने पत्रकारों से पूछते हुए कहा कि क्या हम ऐसा कर रहे हैं। उन्होंने कश्मीर पंडितों के संबंध में कहा कि अब की पत्रकारिता पर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि कश्मीर पंडितों की वापसी नहीं, मौजूदा सरकार से सवाल पूछने में अब समाज हित से अलग चलने वाले पत्रकारों की रूचि है। वहीं विश्व संवाद केंद्र के कार्यकारी अध्यक्ष अजय नारंग ने समाज के हित में पत्रकारिता करने की बात पर दिया जोर दिया। उन्होंने कहा कि विश्व पटल पर भारत की भूमिका समाज के हित की बात है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close