भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजधानी में शुक्रवार को संकष्टी चतुर्थी का पर्व भोपाल में उत्‍साहपूर्वक मनाया गया। सुबह से ही शहर के पिपलानी गणेश मंदिर, छोला, गुफा, कोलार सहित शहर के गणेश मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। आज भी मंदिरों में श्रद्धालु भगवान गजानन के दर्शन करने के लिए आ रहे हैं। शनिवार को को भी गणेशजी को लोग तिल-गुड़ के लड्डूओं का भोग लगा रहे हैं।

पुराने शहर के लखेरापुरा गणेश मंदिर में भगवान गणेशजी का विशेष श्रृंगार किया गया है। संकष्‍टा चतुर्थी के मौके पर भगवान गणेशजी के दर्शन कर श्रद्धालुओं ने सौभाग्य व संतान व परिवार के लोगों के अच्छे स्वस्थ्य की कामना की। विधि-विधान से पूजन कार्यक्रम चल रहे हैं। इससे पहले संकष्टी चतुर्थी पर शुक्रवार को महिलाओं ने दिनभर उपवास रखा था। रात में चंद्र उदय पर भगवान श्री गणेशजी व चंद्रदेव की पूजा की। काले तिल व गुड़ का भोग लगाया। इस त्योहार को तिलवा चौथ के नाम से भी जाना जाता है। उत्तर भारत के लोग यह त्योहार धूमधाम से मनाते हैं। महिलाओं ने तिल के लड्डू के साथ शकरकंद व गाजर का हलवा भी प्रसाद में बनाया। गणेशजी की पूजा कर व्रती महिलाओं ने अपना उपवास खोला। राजधानी वासियों ने भगवान गणेश कोरोना मुक्ति के लिए भी कामना की। महाराष्ट्रीयन समाज ने भी संकष्टी चतुर्थी मनाई। महाराष्ट्र मंडल द्वारा आदर्श नगर, तुलसी नगर ,पिपलानी आदि मंदिरों में विशेष पूजा पाठ की गई। इस मौके पर अभिषेक, सामूहिक आवर्तन का कार्यक्रम संपन्न हुए। समाज के लोगों ने विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। राजधानी के गुफा मंदिर, छोला गणेश मंदिर, पिपलानी गणेश मंदिर, कोलार गणेश मंदिर में भगवान श्रीगणेश, रिद्धि-सिद्धि, शुभ-लाभ को मोती जड़ित वस्त्र पहनाए गए। स्वर्ण आभूषणों से भगवान का श्रृंगार किया गया है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local