भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी भोपाल के उपनगर कोलार में एक तरफ नगर निगम प्रशासन 135 करोड़ रुपये की सीवेज नेटवर्क योजना के तहत कॉलोनियों में सीवेज पाइपलाइन बिछाने और सीवेज चेंबर बनवाने का काम करा रहा है तो दूसरी ओर खाली प्लॉट्स में सीवेज बह रहा है। अब तक जिन कॉलोनियों में सीवेज लाइन बिछाई है और चेंबर बनाए गए हैं, उनमें अभी कनेक्शन करने में समय लगेगा। जब पूरा काम हो जाएगा, तभी नगर निगम प्रशासन घर-घर सीवेज कनेक्शन देगा। ऐसे में अभी कई ऐसी कॉलोनियों हैं, जहां पहले से सीवेज नेटवर्क नहीं है। ऐसे में सीवेज का गंदा पानी खाली जमीन व प्लॉट्स पर बह रहा है। इससे कोलार क्षेत्र में तकरीबन 50 हजार आबादी को गदंगी की समस्या का करना पड़ता है। बदबू की समस्या होने से लोग को परेशानी हो रही है।

स्थानीय रहवासी अनंत अवस्थी ने बताया कि कई बार नगर निगम प्रशासन के अधिकारियों से शिकायत की, लेकिन सीवेज की समस्या निजात नहीं मिल रही है। वहीं ललिता नगर के निवासी नितेश का कहना है कि अब तक नगर निगम प्रशासन ने जहां सीवेज की ज्यादा समस्या है, वहां सीवेज नेटवर्क व चेंबर बनाने का काम शुरू ही नहीं किया है। इससे लोगों के घरों से निकलने वाला सीवेज सड़कों, खाली प्लॉट पर बहता रहता है, जिससे गंदगी की समस्या दूर नहीं हो रही है। इस संबंध में विधानसभा के सामयिक अध्यक्ष व क्षेत्रीय विधायक रामेश्वर शर्मा का कहना है हाल ही में निरीक्षण कर चल रहे सीवेज नेटवर्क काम देखा था। संबंधित नगर निगम अधिकारियों को जल्द ही काम तेज गति से करने के लिए निर्देशित किया है। एक बार सीवेज नेटवर्क व चेंबर बनने काम पूरा होने के बाद कोलार की सालों पुरानी सीवेज की समस्या दूर हो जाएगी।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags