भोपाल। नए भारत और नए मध्यप्रदेश की ओर कदम बढ़ाने के लिए आसमान सी अनंत संभावनाओं से परिपूर्ण विकास के विविध आयामों पर शुक्रवार को नईदुनिया-नवदुनिया फोरम में मंथन होगा। दिनभर चलने वाले इस प्रतिष्ठित कार्यक्रम का उद्धाटन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे।

होटल कोर्टयार्ड मैरियट में होने वाले इस कार्यक्रम में तीन केंद्रीय मंंत्री भी हिस्सा लेंगे। नया आसमान-नई उड़ान थीम पर हो रहे फोरम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 'चुनावी जीत के लिए विकास के मंत्र ' पर अपनी बात रखेंगे। इसके साथ ही कार्यक्रम में नवदुनिया कॉफी टेबल बुक का भी विमोचन किया जाएगा।

चुनावों में क्यों हावी होते हैं व्यक्तिगत आरोप

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उद्घाटन सत्र में बताएंगे कि जैसे-जैसे चुनाव करीब आते हैं, राजनीतिक दलों को, खासतौर से सत्ताधारी दल को अपने विकास के दावों पर भरोसा क्यों नहीं रहता? पहले की अपेक्षा अब सरकारों पर अपेक्षाओं का दबाव बढ़ता जा रहा है। फिर भी चुनाव प्रचार में अकसर विकास और जनसामान्य से जुड़े मुद्दों की बजाय राजनैतिक और व्यक्तिगत आरोप-प्रत्यारोप हावी रहने के कारणों की भी व्याख्या करेंगे।

प्रयासों में कमी नहीं, लेकिन कम नहीं हो रही मुश्किलें

केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह फोरम में देशभर में पैदा हुए कृषि संकट पर चर्चा करेंगे। वे कृषि संकट का समाधान भी बताएंगे। नरेंद्र मोदी ने सरकार में आने के बाद किसानों की आय दोगुना करने के लिए कई कदम उठाए, लेकिन किसानों की परेशानी दूर नहीं हो रही है। वे बताएंगे कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी कैसे हो सकती है?

गांव-गरीबों के लिए सरकार का एजेंडा और उसकी पहुंच

केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी फोरम में बताएंगे कि गांव-गरीबों के लिए सरकार का क्या एजेंडा है और सरकार चार सालों में गांव-गरीब तक पहुंच बनाने में कितना सफल हो सकी है। गौरतलब है कि ग्रामीण विकास और गरीब कल्याण के एजेंडे पर मोदी सरकार का फोकस रहा है।

गडकरी बताएंगे, सत्ताधारी दल को क्यों और कैसे मिलता है दोबारा मौका

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी एंटी इनकम्बेंसी बनाम प्रो इनकम्बेंसी विषय पर फोरम के समापन सत्र को संबोधित करेंगे। वे बताएंगे कि पांच साल सरकार चलने के बाद एंटी इनकम्बेंसी कैसे प्रो इनकम्बेंसी में बदल सकती है। जनता विकल्पहीनता की वजह से सत्तारूढ़ दल को दोबारा चुनती है या सरकार की नीयत देखकर।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close