भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि, Fight Against Corona:! देश-प्रदेश के साथ भोपाल में भी कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में हमें घबराने की बजाय खुद का और दूसरों का ध्यान रखना चाहिए। पिछले साल की अपेक्षा कोरोना के मामले इसलिए बढ़ रहे हैं, क्योंकि लोग लॉकडाउन का पालन कर रहे थे। इस बार कोई भी गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहा है। इस बार सभी को ज्यादा सावधानी बरतने की आवश्यकता है। हर किसी को सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन करना चाहिए। साथ ही मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं। खान-पान का पूरा ध्यान रखें। कोरोना से घबराएं नहीं, बल्कि इम्यूनिटी बढ़ाने पर ध्यान दें। यह कहना है कि जिला क्षय अधिकारी डॉ मनोज वर्मा का, जो लोगों को कोरोना के खिलाफ जागरूक करने की लगातार मुहिम चला रहे हैं।

डॉ वर्मा कहते हैं कि अगर कोरोना के हल्के लक्षण नजर आए तो घर में क्वारंटीन हो जाएं। पल्स ऑक्सीमीटर से ऑक्सीजन लेवल मापते रहें। विटामिन सी, जिंक की दवाइयां लें। परिवार से भी दूरी बनाएं। टीबी के मरीजों के लिए कोरोना ज्यादा खतरनाक नहीं है। कई देशों में स्टडी आई है कि जिन मरीजों को टीबी की बीमारी हो चुकी है। उन्हें कोरोना ज्यादा प्रभावित नहीं कर रहा है। साथ ही जिन्हें बीसीजी का टीका लगा है, उनमें आम लोगों की अपेक्षा अधिक इम्यूनिटी होता है। वहीं डायबिटीज या लंग्स का अस्थमा या कोई सांस से संबंधित कोई बीमारी है तो उन्हें कोरोना अधिक प्रभावित कर रहा है। अभी कोरोना से बचने का एक ही उपाय है कि सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन करें। मास्क पहनें और अंदर कोरोना का भय नहीं पालें। बार-बार हाथ साबुन से धोएं या सैनिटाइज करें।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags