Corona Vaccination in Bhopal: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लगाए जा रहा टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। इससे घबराएं नहीं। किसी भी तरह की भ्रम की स्थिति में ना रहें। जब भी आपको मैसेज आए, तत्काल टीका लगवाएं। इसके कोई दुष्परिणाम नहीं हैं। यह हमारे बच्चों को लगने वाले टीके की तरह ही आसान और सुरक्षित प्रक्रिया है। पहला टीका लगने के 28 दिन बाद दूसरा डोज आवश्यक रूप से लें। इसके 14 दिन बाद आपके शरीर में कोरोना से लड़ने की रोक प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो जाएगी। यह कहना है हमारे शहर के वरिष्ठ और प्रबुद्ध डॉक्टर्स का। जिन्होंने शनिवार को राजधानी में पहले ही दिन टीका लगवाया।

वैक्सीन लगने की खुशी हो रही है। अच्छा लग रहा है। बाकी सभी लोग भी बिना किसी डर के टीका लगवाएं। इसके अलावा अन्य सावधानियां भी बरतें। शारीरिक दूरी का पालन जरूर करें। साथ ही घर से बाहर निकलें तो मुंह पर मास्क जरूर लगाएं।

- डॉ. हरिप्रकाश शर्मा, पं. खुशीलाल शर्मा आयुर्वेद संस्थान

दुनिया में सर्वाधिक विश्वसनीय वैक्सीन हमारे देश में बनाई गई है और यह असरकारी भी है। इन स्वेदशी वैक्सीन से अब देश में उत्साह के नए रंग विकसित होंगे। देश कोरोना से जंग जीतकर फिर से पटरी पर दौड़ेगा। मैं प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का आभार भी व्यक्त करता हूं।

- डॉ अजय गोयनका, संचालक, चिरायु मेडीकल कॉलेज

आधा घंटे पहले टीका लगवाया है। बहुत अच्छा महसूस हो रहा है। वैसे 60 वर्ष से अधिक उम्र का हूं। वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। जब आपका वैक्सीनेशन के लिए नंबर आए तो बिना किसी संदेह के वैक्सीन लगवाएं। इससे शरीर के अंदर प्रतिरोधक क्षमता पैदा होगी और यह टीका लोगों का कोरोना से बचाव करेगा।

- डॉ डीके पाल, विभागाध्यक्ष कम्युनिटी एंड फैमिली मेडिसिन विभाग

2020 का हमारा अनुभव बहुत खराब रहा है। वैज्ञानिकों ने दिन-रात एक कर यह टीका तैयार किया है। कल शाम को ही मैसेज आया था कि आपको वैक्सीन लगवाना है। यहां आने के बाद आइडी चेक हुई और उसके बाद वैक्सीन लगाई गई। इसके बाद ऑब्जर्वेशन रूम में बैठे और अब एकदम बेहतर फील कर रहा हूं।

- डॉ राजेश शर्मा, संचालक, नर्मदा अस्पताल एवं ट्रॉमा सेंटर

इस महाअभियान के प्रथम दिन मैंने अपना वैक्सीनेशन करवाया है। मुझे बेहतर फील हो रहा है। यह वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। इसका कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ेगा। इस वैक्सीन से लोगों को डरने की आवश्यकता नहीं है। जब भी मैसेज आए, नि:संदेह वैक्सीन लगवाएं।

- डॉ प्रभाकर तिवारी, सीएमएचओ, भोपाल

मैं 80 साल का हो चुका हूं। मैंने हमीदिया अस्पताल में अपना टीकाकरण करवाया है। मैं बेहतर अनुभव कर रहा हूं और टीका लगने के बाद किसी तरह की कोई तकलीफ नहीं हुई। यह बेहद सुरक्षित है। आपको भी जब मैसेज आए तो बिना किसी डर के टीकाकरण कराएं। हम पहले भी टीकाकरण जैसी स्थितियों से गुजरते आए हैं। अपने बच्चों को भी टीका लगवाया है। यह उसी तरह का एक टीकाकरण है।

- डॉ एसके त्रिवेदी, शिशु रोग विशेषज्ञ

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags