भोपाल। नईदुनिया स्टेट ब्यूरो। मध्य प्रदेश में अब सौ करोड़ रुपए से कम निवेश करने वाले उद्योगों को भी मेगा उद्योग का दर्जा दिया जाएगा। इसका लाभ उन्हीं उद्योगों को मिलेगा, जो पांच सौ से अधिक लोगों को रोजगार देंगे। औद्योगिक पार्कों के बाहर स्थापित परिधान इकाईयों को भी वही राहत पैकेज सरकार देगी, जो परिधान क्षेत्र को दिए जाते हैं। निवेशकों को उद्योग लगाने के लिए ज्यादा इंतजार न करना पड़े, इसके लिए सात दिन के भीतर 40 तरह की अनुमतियां दी जाएंगी। इसके लिए कानून लाया जा रहा है। कपड़ा उद्योग से जुड़ी इकाईयों को प्रोत्साहन देने के लिए मुख्य सचिव सुधिरंजन मोहंती की अध्यक्षता में समिति रहेगी, जो नई नीति भी तैयार करेगी।

उक्त बातें मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को नई दिल्ली में वस्त्र परिधान और खाद्य प्रसंस्करण से जुड़े उद्योगपतियों के साथ राउंड टेबल चर्चा में कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार जैविक कपास से कपड़ा और परिधान बनाने के लिए अधिक प्रोत्साहन देगी। उन्होंने निवेशकों को बताया कि पांच करोड़ रुपए से अधिक की निवेश विस्तार योजना को भी प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। अभी यह मूल निवेश के 30 प्रतिशत राशि, जो 10 करोड़ रुपए से कम नहीं पर ही दी जाती थी।

सीहोर में बनेगा प्लग एंड प्ले औद्योगिक पार्क

मुख्यमंत्री ने उद्योगपतियों को बताया कि भोपाल हवाई अड्डे से बीस किलोमीटर की दूरी पर सीहोर के बडियाखेड़ी में प्लग एंड प्ले औद्योगिक पार्क विकसित किया जाएगा। इसमें निवेशक को शेड बनाकर दो से दस साल के लिए किराए पर दिया जाएगा। उद्योग अपनी मशीनें लेकर आएंगे और उत्पादन शुरू करने लगेंगे।

ट्राइडेंट समूह करेगा तीन हजार करोड़ का निवेश

राउंड टेबल चर्चा के दौरान कपड़ा उद्योग से जुड़े ट्राइडेंट समूह के अध्यक्ष राजेंद्र गुप्ता ने भोपाल में तीन हजार करोड़ रुपए का निवेश करने की घोषणा की। इससे दस हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। वहीं, गोकुलदास एक्सपोर्ट कंपनी के प्रबंध निदेशक शिवा गणपति ने बताया कि वे भोपाल में ही 50 करोड़ रुपए का निवेश करेंगे। इससे तीन हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। मयूर यूनिकोटर्स के महाप्रबंधक स्वप्निल व्यास ने ग्वालियर में डेढ़ सौ करोड़ रुपए का निवेश करने की जानकारी दी। इससे एक हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

प्रतिभा सिंटेक्स कंपनी के प्रबंध निदेशक श्रेयस्कर चौधरी ने बताया कि इंदौर में एमएसएमई यूनिट के लिए सौ करोड़ के निवेश से टेक्सटाइल पार्क स्थापित करेंगे। इसे बनाने के परिधान एक्सपोर्ट प्रमोशन कांउसिल के अध्यक्ष ए शक्तिवेल सहयोग करेंगे। खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में अदानी समूह गेहूं का आटा बनाने के क्षेत्र में निवेश करेगा। वहीं, विदिशा में सोया बड़ी और बासमती चावल की प्रोसेसिंग भी करवाएगा। पेप्सीको मध्य प्रदेश में आलू चिप्स का कारखाना लगाएगा। हर साल 110 करोड़ रुपए के आलू खरीदेगा और इसे भविष्य में दोगुना करने की योजना भी है। कोका कोला संतरा और आम का ज्यूस बनाने की यूनिट लगाने में निवेश करेगा।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket