भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)! पिपलानी पुलिस को बुधवार शाम उस समय एक बड़ी कामयाबी मिली, जब उसने इंद्रपुरी में तीन युवकों को मादक पदार्थ की तस्करी हुए पकड़ा। उनके पास म्याऊं-म्याऊं ड्रग से लेकर एलएसडी (लीसर्जिक एसिड डाइएथिलेमाइट) जैसे अति उत्तेजक मादक पदार्थ मिले हैं। एलएसडी जैसा मादक पदार्थ शहर में पहली बार इतनी बड़ी मात्रा में बरामद हुआ है। इस ड्रग को मंगाने वाला मुख्य आरोपित मैकेनिकल इंजीनियर है। अन्य दो आरोपित इंजीनियरिंग के छात्र हैं। आरोपित नेशनल ड्रग्स सप्लायर्स से डार्कनेट के माध्यम से इसे मंगा रहे थे। इसका भुगतान भी क्रिप्‍टो करंसी बिटकॉइन के जरिए होता था। आरोपित ने पूछताछ में बताया कि उसने इसका पूरा सेटअप लॉकडाउन में तैयार किया था।

पिपलानी थानाप्रभारी चैन सिंह के मुताबिक मुखबिर की सूचना पर प्रखर सिंह, ऋत्विक कौशल और आयुष मनवानी को इंद्रापुरी से हिरासत में लिया था। थाने लाकर तलाशी ली तो उनके पास से 100 एलएसडी स्ट्रिप, 100 नग एक्सटीसी/एमडीएमए या म्‍याऊं-म्‍याऊं टेबलेट और पांच ग्राम एमडी ड्रग मिला। जब्‍त की गई ड्रग्‍स की कीमत करीब दस लाख रुपए होगी। राजधानी के तीनों आरोपित एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज में साथ पढ़ चुके हैं। प्रखर इनमें सीनियर था। पुलिस के सामने अब नेशनल ड्रग्स के सप्लायर्स को ढूंढना एक बड़ी चुनौती है।

ऑनलाइन नेशनल ड्रग्स डीलर से मंगाते थे अति उत्तेजक ड्रग

आरोपित प्रखर सिंह मैकेनिकल इंजीनियर है और मादक पदार्थ का प्रमुख सप्लायर है। वह इंटरनेट कैफे पर जाकर डार्कनेट को एक्सिस करता था। जहां नेशनल स्तर के ऑनलाइन ड्रग्स की वेबसाइट्स खोलकर आर्डर करता था। आरोपित इतना शातिर था कि हर बार नया ई-मेल बनाता था और कोड वर्ड में संदेश लिखकर ड्रग्स मंगाता था। नेशनल ड्रग्स डीलर ऑर्डर लेने के बाद उससे क्रिप्‍टो करंसी बिटक्‍वाइन में भुगतान लेता था। पैसा मिलते ही मादक पदार्थ को डिलीवरी के लिए एक सुनसान स्थान पर रख दिया जाता था, जिसे प्रखर या उसके साथी जाकर लेकर आते थे। आरोपित यह करंसी भी साइबर कैफे से ऑनलाइन अपने खाते में ट्रांसफर करा लेता था।

रेव पार्टियों में होता है अधिक उपयोग

एलएसडी, एक्सटीसी/एमडीएमए जैसे ड्रग्स का उपयोग ज्‍यादातर रेव पार्टियों में किया जाता है। उसके लिए ही यह ड्रग्स मंगाया गया था। प्रखर के लिए ऋत्विक और आयुष दलाली का काम करते थे। उसके लिए ग्राहक भी ढूढ़कर लाते थे। आरोपित एलएसडी को दो हजार में मंगाकर पांच हजार और एमडीएम की गोली 500 रुपये में लेकर दो हजार में बेच रहे थे।

मादक पदार्थों की तस्‍करी करने वाला बड़ा गिरोह हाथ लगा है। आरोपितों से पूछताछ जारी है। -सांई कृष्णा एस थोटा, पुलिस अधीक्षक, साउथ भोपाल

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags