नईदुनिया, भोपाल। मध्य प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी पर अशोभनीय टिप्पणी को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की फटकार के बाद भी पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ माफी मांगने को तैयार नहीं हैं। इस मामले को लेकर मंगलवार को भी देशभर में सियासी माहौल गर्म रहने पर राहुल गांधी ने बयान पर अफसोस जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि कमल नाथ की भाषा दुर्भाग्यपूर्ण है।

उधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तीखे तेवर बरकरार रखते हुए कहा है कि खेद नहीं, कार्रवाई चाहिए। इसी बीच इमरती देवी ने कहा कि वह मरते दम तक कमल नाथ को माफ नहीं करेंगी। इस मामले में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेज दी है।

गौरतलब है कि कमल नाथ ने गत रविवार को डबरा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी और मंत्री इमरती देवी को लेकर अमर्यादित टिप्पणी की थी। इसके बाद भाजपा ने इसे नारी सम्मान और अनुसूचित जाति (एससी) वर्ग के अपमान से जोड़कर विरोध शुरू कर दिया था। इसके बाद भी कमल नाथ अपने बयान को जायज ठहराते रहे। अलबत्ता, सोमवार रात को उन्होंने अपने बयान पर खेद जताया था।

इस बीच मंगलवार को राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि कमल नाथ मेरी पार्टी के नेता हैं, लेकिन व्यक्तिगत तौर पर मैं इस तरह की भाषा को पसंद नहीं करता हूं, जैसी उन्होंने बोली है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। राहुल के बयान से कमल नाथ की मुश्किलें बढ़ गई हैं। वह अलग-थलग पड़ गए हैं।

हालांकि, राहुल के बयान के बाद भी वह माफी मांगने को तैयार नहीं हैं। राहुल की प्रतिक्रिया के बाद मीडिया से चर्चा में कमल नाथ ने कहा कि यह उनकी राय है। मैंने तो साफ कर दिया है कि मैंने यह किस संदर्भ में बोला था। मैं क्यों माफी मांगूंगा। मैंने तो खेद जता दिया था। राहुल गांधी के नाराज होने के सवाल के जवाब में कमल नाथ ने उलटा सवाल किया कि आपको क्यों चिंता है।

लगातार हमलावर हो रहे शिवराज

इस मामले में शिवराज सिंह का कमल नाथ पर हमला जारी है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि उनके नेता ने यह स्वीकार किया है कि कमल नाथ ने गलती की है। सवाल यह है कि गलती की है तो आप कार्रवाई क्या करेंगे? मुझे तो आश्चर्य है कि कांग्रेस ने इन्हें प्रदेश अध्यक्ष क्यों बना रखा है। उधर, मामले में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने ग्वालियर कलेक्टर से रिपोर्ट मांगी थी। वहां से प्राप्त रिपोर्ट का ब्योरा और सीडी चुनाव आयोग को भेज दी गई है।

कमल नाथ को मरते दम तक माफ नहीं करूंगीः इमरती

इमरती देवी ने कहा है कि वे कमल नाथ को मरते दम तक माफ नहीं कर सकती हैं। वरिष्ठ नेताओं से चर्चा के बाद तय करूंगी कि उनके खिलाफ क्या करना है। मैं चाहती हूं कि कमल नाथ पर एससी-एसटी एक्ट के तहत एफआइआर दर्ज हो।

बर्दाश्त नहीं करेंगेः सिंधिया

उधर, कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा एक बाहरी आदमी मेरी इमरती को कुछ भी कह देगा ये हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। डबरा विधानसभा क्षेत्र के छीमक में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ये चुनाव अब इमरती का नहीं, सिंधिया का है। इस दौरान इमरती देवी मंच पर आंसू पोंछती रहीं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस