भोपाल। तकनीकी शिक्षा विभाग ने प्रदेश के प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेजों में बड़ी संख्या में खाली सीटों की संख्या को देखते हुए काउंसिलिंग एक दिन के लिए बढ़ा दी है। अब गुरुवार को भी कॉलेज लेवल काउंसिलिंग के जरिए छात्र एडमिशन ले सकेंगे। बुधवार तक इंजीनियरिंग में करीब 29 हजार छात्रों ने एडमिशन ले लिया है।

हालांकि अब प्रदेश के डेढ़ सौ से ज्यादा प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेजों में करीब तीस हजार सीटें खाली हैं।

प्रदेश के प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन की स्थिति नहीं सुधरने के बाद प्राइवेट कॉलेज संचालकों की मांग पर आखिरकार तकनीकी शिक्षा विभाग को काउंसिलिंग की तारीख एक दिन के लिए बढ़ानी पड़ी है। अब 15 अगस्त को राष्ट्रीय अवकाश होने के बावजूद देर रात तक एडमिशन हो सकेंगे।

इधर, सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों में स्थिति हर बार की तरह इस बार भी अच्छी है। सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों में करीब छह हजार सीटों में से साढ़े पांच हजार से ज्यादा सीटों पर छात्रों ने एडमिशन ले लिए हैं। कुछ ब्रांचों में ही सीटें खाली रही हैं।

बीएडी, एमपीएड और बीपीएड के आवंटन जारी

प्रदेश में एनसीटीई से संचालित आठ कोर्सेस में एडमिशन के लिए कॉलेजों का आवंटन उच्च शिक्षा विभाग ने कर दिया है। इन कोर्सेस में एडमिशन का यह दूसरा राउंड रहेगा। पहले राउंड के बाद बीएड को छोड़कर एमपीएड, बीपीएड समेत सात कोर्सेस में एडमिशन की स्थिति बहुत खराब है। एमपीएड, बीपीएड जैसे कोर्सेस में एक दो साल पहले तक एडमिशन के लिए जमकर मारामारी रहती थी लेकिन अब हालात यह है कि कॉलेजों में आधी सीटें भी नहीं भरा पा रही हैं।