"नईदुनिया" से विशेष चर्चा में मुख्यमंत्री ने कहा- कोशिश है कि कोरोना की तीसरी लहर को प्रदेश में कदम ही न रखने दें

Exclusive Interview with Naidunia: भोपाल (नईदुनिया स्टेट ब्यूरो)। कोरोना की दो लहर झेल चुके मध्य प्रदेश को तीसरी लहर की आशंका से बचाने का एकमात्र उपाय है टीकाकरण। इसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जन सहभागिता के उसी माडल पर लगातार वैसी ही मेहनत कर रहे हैं, जैसी उन्होंने संक्रमण के पिछले दोनों दौर में की थी। हालांकि खुद शिवराज सिंह महाअभियान में बन रहे नए कीर्तिमानों के लिए जनसहभागिता माडल के बजाय जनता को श्रेय देते हैं।

'नईदुनिया" से विशेष बातचीत में उन्होंने दावा किया कि इस साल के अंत तक पूरे प्रदेश में पात्र लोगों का शत-प्रतिशत टीकाकरण कर दिया जाएगा। साथ ही चिकित्सा सुविधाओं को इतना मजबूत बना देंगे कि किसी भी संकटपूर्ण स्थिति में प्रदेश के लोगों को परेशानी न उठानी पड़े। प्रस्तुत है मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से विशेष बातचीत के मुख्य अंश...

प्रश्न-एक तरफ टीकाकरण महाअभियान चल रहा है और दूसरी तरफ चिकित्सा सुविधाओं को लेकर भी खासी तैयारी है। तो क्या तीसरी लहर की आशंका को लेकर कोई संशय है?

मुख्यमंत्री- ऐसे मामलों में जरा सी भी चूक की गुंजाइश नहीं छोड़नी चाहिए। हम चाक-चौबंद व्यवस्था से प्रदेश की जनता को बचाते रहे हैं। अब कोशिश है कि कोरोना की तीसरी लहर को प्रदेश में कदम ही न रखने दें, इसके लिए सभी को टीका लगाना जरूरी है। जहां तक स्वास्थ्य सुविधाओं को मुकम्मल करने की बात है, तो भाजपा सरकार प्रदेश को स्वास्थ्य सुविधाओं के मामले में अग्रणी रखने के लिए प्रयासरत है।

प्रश्न- आप सरकारी कार्यक्रमों और अभियानों से जनता को सहज ही कैसे जोड़ लेते हैं?

मुख्यमंत्री: जन सहभागिता के बिना कोई भी लोकतंत्र कभी सफल नहीं हो सकता। जनकल्याण और प्रदेश के विकास के कार्य बिना जनता के सहयोग के सफल नहीं हो सकते। आप देखिए हमारे देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने पूरी गवर्नेंस को जनता के लिए समर्पित कर दिया है। इसी का नतीजा है कि इस संकट काल में जब विपक्ष तमाम तरह की भ्रांतियां फैलाने की साजिश रच रहा है, फिर भी पूरा देश मोदी जी के साथ है, जिसमें मध्य प्रदेश की जनता भी शामिल है।

प्रश्न- कांग्रेस ने कोरोना को लेकर लापरवाही के आरोप लगाए हैं?

मुख्यमंत्री: लोकतंत्र में सरकार पर सवाल करना विपक्ष का अधिकार है, लेकिन जब जनता की जान बचाने की चुनौती सामने हो, तो विपक्ष को रचनात्मक और सहयोगात्मक भूमिका भी अदा करनी चाहिए, जो कभी भी कांग्रेस की परंपरा नहीं रही है। वह हर मौके का अपने सियासी नफे-नुकसान से आकलन करती रही है।

प्रश्न- देश में सफलतम टीकाकरण अभियान को लेकर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?

मुख्यमंत्री: प्रधानमंत्री जी की दूरदर्शिता और सक्रियता का ही परिणाम है कि इतने कम समय में भारत ने दो कोरोना वैक्सीन विकसित कीं। अब तक देश में 60 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। गरीबों को अनाज और दवाई से लेकर हर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करा रहे हैं। सच में प्रधाननमंत्री जी संकट मोचक हैं, वे भारत के लिए वरदान हैं। उन्होंने इस महामारी के अभूतपूर्व संकट से हमें बाहर निकाल लिया।

प्रश्न- अब तक प्रदेश में कितना टीकाकरण हुआ है। सभी प्रदेशवासियों का संपूर्ण वैक्सीनेशन कब तक हो सकेगा?

मुख्यमंत्री: वैक्सीनेशन महाअभियान चलाकर मध्य प्रदेश सरकार लगातार प्रयास कर रही है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों का टीकाकरण हो। संजीवनी रूपी वैक्सीन का सुरक्षा कवच हर नागरिक तक पहुंचे। अभी तक मध्य प्रदेश में कुल चार करोड़ 45 लाख डोज से अधिक वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local