भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि) Bhopal Health News:। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भोपाल में भर्ती रहे मरीज शशि भूषण के बेटे ने अस्पताल प्रबंधन पर गंभीर लापरवाही का आरोप लगाया है। उनके बेटे ने कहा है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी होने पर उनके पापा को खाली सिलिंडर से जोड़कर ऑक्सीजन मास्क लगा दिया गया। जब उन्हें तकलीफ होने लगी तो फोन किया। इसके बाद परिजन उन्हें वहां से डिस्‍चार्ज कराकर निजी अस्पताल में ले गए।

इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए परिजन ने ट्विटर और इंटरनेट मीडिया के अन्य साधनों पर एम्‍स प्रबंधन के खिलाफ मैसेज लिखा। मरीज के बेटे ने ट्विटर पर यह भी लिखा कि पिता को पांच दिन तक एम्स में भर्ती रखा। इस दौरान दवाई भी बाहर से खरीद कर लेकर आए। उन्हें जब निजी अस्पताल लेकर जा रहे थे, तो नर्स ने दिखावे के लिए खाली सिलिंडर से ऑक्सीजन देने की कोशिश की। मामला हफ्ते भर पुराना है। इस घटना के बाद एम्स के डायरेक्टर और अधीक्षक के बीच की खटास खुलकर सामने आ गई है।

डायरेक्टर ने कहा- अधीक्षक दें जवाब

ट्विटर पर चले मैसेज के बाद एम्‍स के डायरेक्टर डॉ सरमन सिंह ने कहा कि अस्पताल से संबंधित जिम्मेदारी अधीक्षक की होती है। इसलिए उन्हें ही जवाब देना चाहिए। डायरेक्टर ने ट्विटर पर लिखा कि इस संबंध में उन्होंने अधीक्षक से रिपोर्ट मांगी है। उधर, इस संबंध में अधीक्षक डॉ. मनीषा श्रीवास्तव का कहना है कि अस्पताल के मुखिया भी डायरेक्टर होते हैं, उन्हें सार्वजनिक प्लेटफार्म पर ऐसा नहीं लिखना चाहिए।

मैंने घटना की जांच के संबंध में कमेटी बना दी है। कमेटी जल्द ही रिपोर्ट देगी। इसके बाद तय हो जाएगा कि मरीज को प्रोटोकॉल के तहत पूरी सुविधाएं दी गई थीं या नहीं।

- डॉ. मनीषा श्रीवास्तव, अधीक्षक, एम्स भोपाल

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags