भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। चाैकी इमामबाड़ा के एसिड फिनायल वाली गली में स्थित चार मंजिला ईमारत में आग लगने से इसमें रखा लाखों का फिनायल जल गया। जिस समय गोडाउन में आग लगी, इमारत में ताला लगा हुआ था। यहां कोई रहता नहीं था। आसपास के लोगों ने इमारत में आग लगने की सूचना फायर कंट्रोल रुम को दी थी। जिसके बाद वहां पहुचे दमकल कर्मियों ने ढाई घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया। जिस स्थान पर यह इमारत है, काफी भीड़भाड़ वाला इलाका है। यदि आग भड़कती तो इसक चपेट में कई अन्य इमारतें भी आ जाती, हालांकि समय रहते दमकल कर्मियों के पहुंचने से बड़ा हादसा टल गया।

फायर फाइटर अब्दुल अकील ने बताया कि सुबह 8:25 बजे आग लगने की सूचना कंट्रोल रूम को दी गई थी। इसके बाद मौके पर फतेहगढ़, कबाड़खाना, बोगदापुल और करोंद से एक फोम टेंडर मशीन, 8 फायर फाइटर और पांच वाटर टैंकर भेजे गए थे। घटना के समय इमारत में ताला लगा होने से दमकल कर्मियों को आग बुझाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। दरवाजे का ताला तोड़कर दमकल कर्मियों ने पहले नीचे से आग बुझानी शुरु की, वहीं फोम टेंडर मशीन के सहारे छत व तीसरे मंजिल में लगी आग को बुझाया गया। 45 से 50 दमकल कर्मियों ने सुबह 10:45 बजे तक आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया। बताया जा रहा है कि यह बिल्डंग अभिषेक जैन नाम के व्यक्ति की है, जो एसिड और फिनायल का थोक कारोबार करते हैं। चौकी इमामबाड़े में उनकी निमाषी केमिकल नाम से दुकान है, लेकिन इस इमारत को उन्होंने गोडाउन भी बना रखा है। पहले उनका परिवार इसी इमारत में रहता था, लेकिन अब दूसरे स्थान पर रहे हैं।

30 लाख रुपये नुकसान का अनुमान

फायर फाइटर नौशाद अली ने बताया कि आग पूरी तरह से बुझने के बाद दुकान के मालिक अभिषेक मौके पर पहुंचे थे। गोडाडन में रखा पूरा कैमिकल जल गया था। जब उन्होंने अंदर जाकर देखा तो धुंआ भरा हुआ था। अभिषेक ने बताया कि गोडाउन में करीब 30 लाख रुपये का केमिकल रखा हुआ था, जो जलकर स्‍वाहा हो गया। पिछले हफ्ते ही केमिकल मंगाया गया था। गनीमत रही कि आग इमारत से बाहर नहीं भड़की, अंदर ही अंदर कैमिकल जलता रहा। नहीं तो बड़ी दुर्घटना हो सकती थी।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close