भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी की विशेष सीबीआइ अदालत ने गुरुवार को व्यापमं घोटाले के सिलसिले में पांच लोगों को दोषी पाते हुए सात साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई। अदालत ने प्रत्येक पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। जबकि, दो आरोपितों को ठोस सबूतों के अभाव में बरी कर दिया गया।

सीबीआइ का प्रतिनिधित्व करने वाले विशेष लोक अभियोजक सतीश दिनकर के मुताबिक सजा पाए लोग 2013 में हुई पुलिस कांस्टेबल परीक्षा के घोटाले में शामिल थे। आरोपितों के द्वारा परीक्षा के दौरान बैठक व्यवस्था में हेरफेर किया गया था, ताकि भुगतान किए गए एक होशियार छात्र को उत्तर की नकल करने के लिए दो अन्य परीक्षार्थियों के बीच बैठाया जा सके। सजा पाने वाले पांच लोगों में से चार कमल किशोर, अमर सिंह, नागेंद्र सिंह एवं सुरेश सिंह ने परीक्षा में डमी उम्मीदवार का इस्तेमाल किया था। एक अन्य व्यक्ति दूसरे उम्मीदवार के स्थान पर परीक्षा के लिए उपस्थित हुआ था। इस विशेष मामले से संबंधित कुल 32 गवाहों से अदालत में जिरह की गई। उनकी गवाही और घोटाले से संबंधित 200 पृष्ठों के दस्तावेजों के आधार पर व्यापमं मामले की सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति नीतिराज सिंह सिसोदिया ने गुरुवार को फैसला सुनाया। एडवोकेट दिनकर के मुताबिक मल्टी-लेयर व्यापमं घोटाले से संबंधित यह मामला वर्ष-2013 में सामने आया था। सीबीआइ द्वारा इस मामले की विवेचना की गई थी। भोपाल जिला अदालत घोटाले के 54 मामलों की सुनवाई कर रही है, जबकि अन्य मामलों की सुनवाई इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर की विभिन्ना अदालतों में हो रही है।

गाड़ी पलटा दी थी, चालक काे एक साल की सजा

भाेपाल। तेजी व लापरवाही से गाड़ी चलाकर पलटाने के मामलेे में राजधानी की अदालत ने नौ साल बाद आराेपित चालक काे एक साल की सजा सुनार्इ है। उस पर एक हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। संभागीय लाेक अभियाेजन कार्यालय के प्रवक्ता मनाेज त्रिपाठी ने बताया कि गुरुवार काे राजकुमार तोरनिया प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने अाराेपित मुजक्किर अख्तर को एक वर्ष के कारावास से दंडित किया है। पांच मार्च 2013 में टीटी नगर थाने में अाकिब जावेद नाम के व्यक्ति ने शिकायत दर्ज करार्इ थी। उसमें बताया था कि सुबह सात बजे चार पहिया वाहन के चालक मुजक्किर अखतर उर्फ मुजक्‍कर ने लापरवाही से गाड़ी चलाकर पलटा दी थी। गाड़ी में सवार अाकिब गंभीर रूप से घायल हाे गया था। इस मामले में मुकदमा कायम कर टीटी नगर थाना पुलिस ने मामले की जांच कर चालान काेर्ट में पेश किया था। सुनवार्इ के बाद अदालत ने चालक काे दुर्घटना के लिए दाेषी पाते हुए दंडित किया हैै।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close