-इन दिनों प्रसारित हो रहे ज्यादातर टीवी शोज की स्क्रिप्ट के केंद्र में भोपाल का जिक्र

संडे स्टोरी

रुचि एस.काशिव। नवदुनिया, भोपाल

झीलों का शहर ..नवाबी की पृष्ठभूमि..गंगा-जमुनी तहजीब..लाजवाब खान-पान..खट्ठी-मीठी जुबान..कला व संस्कृति का किला..हरियाली भी भरपूर। इन तमाम खूबियों वाला हमारा शहर भोपाल इन दिनों नेशनल टेलीविजन चैनल्स पर सीरियल्स के जरिए धमाल मचा रहा है। इसे स्क्रिप्ट राइटिंग में भोपाल को केंद्र में रखने का स्क्रिप्ट राइटर्स का कमाल समझे या टारगेट रेटिंग प्वाइंट (टीआरपी) की जरूरत? इसके अलावा और भी कई वजहें हो सकती है। मसलन, शहर के दक्ष कलाकार, सस्ते संसाधन, शूटिंग के लिए माकूल व्यवस्थाएं व लोकेशन? देश के इंटरटेनमेंट चैनल्स पर प्रसारित हो रहे सीरियल्स, क्राइम व प्राइम शो में भोपाल केंद्र में नजर आ रहा है। ज्यादातर इंटरटेनमेंट सीरियल्स में भोपाल की एतिहासिक पृष्ठभूमि का जिक्र हो रहा है। अलबत्ता, राजधानीवासियों के लिए खुशखबरी है कि फिल्मों के अलावा टेलीविजन के प्रोड्यूसर, डायरेक्टर व स्क्रिप्ट राइटर्स की निगाहें कहीं न कहीं भोपाल की ओर जरूर है। भोपाल बेस्ड टीवी सीरियल्स और शोज के पीछे फिल्म व टीवी के विशेषज्ञ बताते है कि मायानगरी मुंबई में मध्यप्रदेश की कई प्रतिभाएं सक्रिय हैं। उनमें अपने शहर को लेकर स्थानीयता का भाव आता है। लिहाजा, दर्शकों के जुड़ाव के लिए स्क्रिप्ट में भोपाल का जिक्र करना नहीं भूलते। यही नहीं सीरियल्स की कहानियों ने मुंबई से बाहर निकलना शुरू कर दिया है। हिंदीभाषी क्षेत्र सीरियल निर्माताओं के केंद्र में हैं। इसके अलावा सीरियल निर्माण को लेकर निर्माताओं की भेड़चाल भी एक कारण है।

-मौजूदा समय में टीवी पर प्रसारित हो रहे धारावाहिक

--------------

-इश्क सुभान अल्लाह

इश्क सुभान अल्लाह एक भारतीय हिंदी धारावाहिक है, जिसका प्रसारण 14 मार्च 2018 से शुरू हुआ था। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल शहर को केंद्र में रख कर रची-बसी कहानी का रुख अब उप्र की राजधानी लखनऊ की ओर हो गया है। ये कहानी जारा सिद्दीकी और कबीर अहमद की है, जो इस्लाम पर उधा अध्ययन करने के बाद 5 साल बाद लखनऊ वापस आते हैं। इस्लाम धर्म के नियमों को मानने वाले कबीर और जारा के सिद्घांत एवं विश्वास एक-दूसरे से अलग हैं। जब वे दोनों संयोगवश मिलते हैं, तब उनका जीवन पूरी तरह बदल जाता है। 355 एपिसोड की संख्या वाले इस सोप ओपेरा की कहानी जब-तब भोपाल शहर का जिक्र आ ही जाता है।

-------------

-बहू बेगम

हाल ही में यानी 15 जुलाई 2019 से एक टीवी एंटरटेनमेंट चैनल पर प्रसारित हो रहा 'बहू बेगम' सीरियल पूरी तरह भोपाल की नवाबी पृष्ठभूमि पर केंद्रित है। खासकर, महिला नवाब बेगमों को लेकर। उनके रहन-सहन। जीवन शैली और उर्दू भाषा की नफासत भी सीरियल्स की कहानी में शामिल है। नाटक रोमांस शैली में आ रहे इस धारावाहिक में एक शाही मुस्लिम परिवार की कहानी है, जिसमें प्यार, प्रायश्चित और बदला देखने को मिलेगा। लेकिन इसमें सबसे खास बात ये है कि कहानी में एक हीरो को दो महिलाओं के साथ जीवन बिताना पड़ेगा, जिसका कारण कोई और नहीं, खुद उसकी मां है। इस सीरियल के कुछ हिस्सों की शूटिंग भोपाल में की गई है।

--------------

भोपाल क्यों-पांच वजहें

-हिंदी व उर्दू भाषी क्षेत्र

-कलाप्रेमी दर्शकों की रुचि

-भोपाल के स्क्रिप्ट राइटर्स

-अच्छी टीआरपी मिलना

-निर्माताओं की भेड़चाल

-------------

वर्जन-

मुंबई से बाहर निकली कहानियां

पहले फिल्मों की कहानियां मुंबई आधारित होती थी। धीरे-धीरे कहानियां देश के अन्य शहरों की तरफ मुड़ी। ठीक इसी तरह टीवी सीरियल्स की कहानियों ने मुंबई से बाहर निकलना शुरू कर दिया है। जैसा कि सीरियल्स में अमीरी दिखाई जाती है, इसलिए निर्माता भोपाल, चंडीगढ़, जयपुर, बड़ौदा व लखनऊ जैसे शहरों की ओर फोकस कर रहे हैं। यूं भी भोपाल कई वैरायटियों वाला शहर है। भोपाल की संस्कृति, भाषा, कला व शहर की खूबसूरती निर्माताओं को लुभाती है।

-दीपक दुआ, फिल्म व टेलीविजन समीक्षक

------------

संदर्भों के साथ प्रतीकों का शहर

भोपाल संदर्भों के साथ प्रतीकों का शहर है। यहां वे तमाम खूबियां मौजूद है, जो एक फिल्म और टीवी सीरियल निर्माण के लिए आवश्यक है। जहां तक टीवी धारावाहिकों में भोपाल का जिक्र आने की बात है, इसके पीछे मप्र की प्रतिभाओं का मुंबई में सक्रिय होना है। खासतौर से स्क्रिप्ट राइटर्स। भोपाल के कई लोग फिल्म व टीवी दोनों माध्यमों में सक्रिय है। लिहाजा, उनमें अपने शहर को लेकर स्थानीयता का भाव जागता है तो उसका उल्लेख करने से नहीं चूकते।

-सुनील मिश्र, राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त समीक्षक

---------------

हमारे शहर के कलाकार

- दिव्यंका त्रिपाठी

- ईशा सिंह

- मदिराक्षी मुंडले

- सारा खान

- आर्शी खान

- एश्वर्या खरे

- शुभांगी अत्रे

- सौम्या टंडन

- अदिति गुप्ता

-------------

भोपाल पर आधारित टीवी शो

- चिड़ियाघर

- लापतागंज

- कयामत की रात

- एक भ्रम सर्वगुण संपन्न

- काल भैरव रहस्य

- महाकाल

- सावधान इंडिया

- क्राइम पेट्रोल

----------------

जानकारी स्त्रोत आधारित