Madhya Pradesh government भोपाल (राज्य ब्यूरो)। पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कहा कि शराब बंदी को लेकर शुरू किए जाने वाला उनका आंदोलन सरकार विरोधी नहीं, बल्कि शराब विरोधी है। यह आंदोलन सामाजिक सरोकारों के प्रति प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा भी उनके आंदोलन से जुड़ेंगे।

मालूम हो, उमा भारती ने रविवार को मीडिया से चर्चा में कहा था कि वे 19 अक्टूबर से प्रदेश में शराब बंदी को लेकर अभियान शुरू करेंगी। 15 जनवरी 2022 से वे खुद सड़क पर उतरेंगी। उन्होंने कहा था कि मेरा मानना है कि शराब बंदी लट्ठ से होगी। इसे लेकर कांग्रेस ने इस मामले में उमा भारती की शराब बंदी को लेकर पूर्व में की गई घोषणाओं पर सवाल उठाते हुए कहा था कि यदि उमा भारती शराब बंदी को लेकर अभियान शुरू करती हैं तो कांग्रेस उनका साथ देगी।

रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री ने नईदुनिया को फोन कर आंदोलन को लेकर स्थिति स्पष्ट की। उन्होंने बताया कि जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से उनकी मुलाकात होगी तो वे भी इसकी अच्छाई को देखते हुए आंदोलन से जुड़ेंगे। विष्णु दत्त शर्मा और शिवराज सिंह चौहान दोनों स्वच्छ विचारों के नेता हैं। दोनों ने नशे जैसी सामाजिक बुराई को कभी प्रश्रय नहीं दिया है। जब वे हमारे आंदोलन की भावना को समझेंगे तो निश्चित तौर पर इस आंदोलन के प्रति उनका भी झुकाव होगा।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local