भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। हवाओं का रुख बदलने और अलग-अलग स्‍थानों पर चार वेदर सिस्‍टम की सक्रियता की वजह से प्रदेश में मौसम का मिजाज बदल गया है। वातावरण में आ रही नमी के चलते प्रदेश के अनेक हिस्‍सों में बादल छा रहे हैं। इसके साथ-साथ हवा का रुख बदलने से फिलहाल कड़ाके की ठंड से भी राहत मिल गई है।शनिवार को भोपाल में कुछ क्षेत्रों हल्‍की बारिश भी हुई है।

मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के चंबल संभाग के जिलों में अधिकांश स्थानों पर, ग्वालियर संभाग के जिलों में अनेक स्थानों पर, सागर संभाग के जिलों में कहीं-कही वर्षा दर्ज की गई। शेष संभागों के जिलों में मौसम शुष्‍क रहा। सागर एवं ग्वालियर संभागों के जिलों में कही-कहीं हल्‍के से मध्यम कोहरा रहा। कोहरा रहा। ग्वालियर एवं दतिया में तीव्र शीतल दिन रहा।

मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों के दौरान प्रदेश के रीवा, सागर, ग्‍वालियर व चंबल संभागों के जिलों में तथा विदिशा एवं रायसेन में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने, ओलावृष्‍टि को लेकर आरेंज अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा भोपाल, सीहोर, राजगढ़, होशंगाबाद, नौगांव, मंदसौर, आगर, शाजापुर, उमरिया, कटनी एवं जबलपुर जिलों में कहीं-कहीं बारिश हो सकती है।

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में उत्तरी पाकिस्तान पर एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ ईरान और अफगानिस्तान के बीच ट्रफ के रूप में सक्रिय है। दक्षिणी पाकिस्तान और उससे लगे राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। इसके अतिरिक्त मध्यप्रदेश के मध्य में भी हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। इन चार वेदर सिस्टम के सक्रिय रहने के कारण मौसम का मिजाज बदलने लगा है। शनिवार को ग्वालियर, चंबल, सागर, भोपाल संभागों के जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। राजधानी में भी दोपहर बाद बादल छाने के साथ हल्की बौछारें पड़ने के आसार हैं। इस दौरान न्यूनतम तापमान में कुछ बढ़ोतरी होगी। अधिकतम तापमान में गिरावट हो सकती है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local