भोपाल। मोबाइल नंबर पर लकी ड्रॉ खुलने का झांसा देकर छात्र से एक लाख रूपए की ठगी का मामला सामने आया है। शातिर ठग ने ग्यारहवीं के एक छात्र को मोदी सरकार बनने के उपलक्ष्य में 25 लाख का लकी ड्रॉ खुलने का झांसा दिया और दो दिन में अलग-अलग खातों में 1.05 लाख रूपए जमा करा लिए। छात्र को एफआईआर दर्ज कराने के लिए ग्यारह माह तक भटकना पड़ा। तब जाकर जहांगीराबाद पुलिस ने जांच के बाद अज्ञात लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

एएसआई अकल सिंह के मुताबिक ग्वाल मोहल्ला रोशनपुरा निवासी अंजू पति सुरेश भगत(40) मजदूरी करती है। उसके बेटे जयप्रकाश(18) ने इसी वर्ष दसवीं पास की है। वह न्यू मार्केट में एक कपड़े की दुकान पर काम करता है। जयप्रकाश ने बताया कि बीती 20 अगस्त 2018 को उनके मोबाइल पर एक कॉल आया था। कॉल करने वाले व्यक्ति ने उसे बताया था कि मोदी सरकार बननने के उपलक्ष में उसका जीओ का मोबाइल नंबर लकी ड्रा के लिए चुना गया है। लकी ड्रा के तौर पर उसे 25 लाख रूपए दिए जाना है। जालसाज ने उसे अपने बड़े अफसर राणा प्रताप सिंह से बात करने को कहा।

अलग-अलग खातों में जमा कराई रकम

जय प्रकाश ने राणा प्रताप सिंह से मोबाइल नंबर पर बात की तो उसने जय प्रकाश से अकाउंट नंबर और फोटो मांगा। साथ ही बैंक में 10 हजार 200 रूपए जमा करने को कहा। ऑन लाइन पैसे जमा करने के बाद छात्र से कहा गया कि रकम 25 लाख है,इसलिए इनकम टैक्स के 25 हजार रुपए और जमा करना होगा। छात्र ने किसी दिलीपसिंह के अकाउंट में 25 हजार भी जमा कर दिए। इसके बाद राणा प्रताप सिंह ने छात्र से कहा कि तुम्हारा करेंट अकाउंट खुलवाना पड़ेगा। इसलिए आपको 45 हजार रूपए जमा करना होगा।

छात्र ने रघुवीर सिंह व ब्रजेश नाम के व्यक्ति के अकाउंट में 20 और 25 हजार रूपए जमा कर दिए। इस तरह झांसे में लेकर छात्र से अलग-अलग खातों में कुल 1 लाख 5 हजार रुपए की राशि जमा करा ली गई। जय प्रकाश ने यह राशि 25 लाख के लालच में अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से उधार ली थी। बाद में जब आरोपितों के मोबाइल नंबर बंद आने लगे,तब जयप्रकाश को ठगी का अहसास हुआ।