Coronavirus Bhopal News : भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी में कोविड केयर और क्वारंटाइन सेंटरों में कोरोना संक्रमित व संदिग्ध मरीज लगातार हंगामा कर रहे हैं और खाने से लेकर बाथरूम सहित अन्य व्यवस्थाएं दुरुस्त करने की मांग उठा रहे हैं।

शनिवार को इसे लेकर एक बार फिर वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुए तो अधिकारियों ने तुरंत कोविड सेंटर पहुंचकर मरीजों से बात की और तत्काल व्यवस्था सुधरवा दीं। सवाल ये है कि वैश्विक महामारी के इस दौर में प्रशासन मरीजों व संदिग्धों को लेकर गंभीर नहीं है, तभी तो हंगामे व अव्यवस्था की ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं।

दरअसल, दो दिन पहले पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक अस्पताल में कोरोना संक्रमित 15 मरीजों ने बाथरूम गंदा होने तथा उसमें हैंडवॉश और साबुन होने सहित रूम की साफ सफाई न होने को लेकर जमकर हंगामा किया। सभी मरीज इस बात पर अड़े थे कि अस्पताल की व्यवस्थाएं दुरुस्त हों। सभी मरीजों ने गंदगी वाले टेबल पर दवाइयां रखे होने का वीडियो तक सोशल मीडिया पर जारी किया था।

अस्पताल प्रबंधन ने इस मामले में तत्काल संज्ञान लेते हुए आनन-फानन में सभी व्यवस्थाएं सुधारी डालीं। नाम न छापने की शर्त पर एक मरीज ने बताया कि अस्पताल में हैंडवॉश और साबुन तक खत्म हो गया था। वॉशरूम को साफ नहीं किया जा रहा था। हंगामे के बाद ये सब ठीक हो गया है।

मरीजों को गर्म पानी से लेकर अच्छा खाना भी मिल रहा है, वह भी गर्म। हालांकि खुशीलाल आयुर्वेदिक अस्पताल के प्राचार्य उमेश शुक्ला ऐसी किसी भी घटना के होने से इन्कार कर रहे हैं। उनका कहना है कि अस्पताल में सभी व्यवस्थाएं ठीक हैं। मरीजों को अच्छे से ध्यान रखा जा रहा है।

मौके पर पहुंचे अधिकारी, सुधरीं व्यवस्थाएं, अब हर तीसरे दिन होगा निरीक्षण

अस्पताल में हंगामा होने के वीडियो और फोटो जैसे ही सोशल मीडिया पर शेयर हुए, एसडीएम, कलेक्टर, संभागायुक्त से लेकर खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अधिकारी तक मौके पर जांच करने पहुंच गए। सभी ने मरीजों को आश्वस्त किया कि एक दिन में ही व्यवस्थाएं सुधर जाएंगी और हुआ भी ऐसा ही, अब मरीजों को गर्म खाना और अच्छी सुविधाएं मिलना शुरू हो गई हैं। इधर, जानकारी के अनुसार अब हर तीसरे दिन निरीक्षण किया जाएगा। इतना ही नहीं, संबंधित क्षेत्र के एसडीएम को निर्देश दिए गए हैं कि वे दिन में कम से कम एक बार निरीक्षण जरूर करें।

डॉक्टरों की टीम रहेगी तैनात, आइसर में एंबुलेंस की हुई व्यवस्था

सभी कोविड केयर अस्पतालों व सेंटरों में डॉक्टरों की एक टीम 24 घंटे सेंटर में उपलब्ध रहेगी। आरजीपीवी में बने कोविड केयर सेंटर में तो यह व्यवस्था लागू भी हो गई है। एक सीनियर डॉक्टर के निर्देशन में यहां एक टीम तैनात कर दी गई है। वहीं दूसरी तरफ क्वारंटाइन सेंटर आइसर में भी डॉक्टरों की टीम के लिए व्यवस्था की गई है। जबकि एक एंबुलेंस आईसर के लिए आरक्षित कर दी गई है, ताकि यहां क्वारंटाइन लोगों को परेशानी होने पर उन्हें तत्काल इलाज मुहैया कराया जा सके।

इनका कहना है

अस्पताल में मरीजों को समय पर दवाईयां दी जा रही हैं। वॉशरूम से लेकर पूरे अस्पताल तक को साफ रखा जा रहा है। सभी की शिकायतें भी सुनी जा रही हैं और उनका निदान भी किया जाता है।

- उमेश शुक्ला, प्राचार्य, पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक अस्पताल

कोविड सेंटर्स में बिस्तरों की क्षमता

सेंटर -- कुल क्षमता

मैनिट भोपाल (कोविड केयर सेंटर) -- 600

आरजीपीवी भोपाल (कोविड केयर सेंटर) -- 420

श्रमोदय हॉस्टल (कोविड केयर सेंटर) -- 700

महावीर आयुर्वेद कॉलेज -- 90

आईआईएसईआर (कोविड केयर सेंटर) -- 450

चिरायु मेडिकल कॉलेज (डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर) -- 800

जेपी अस्पताल -- 34

भोपाल यूनानी मेडिकल कॉलेज -- 34

भोपाल आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज -- 60

भोपाल होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज -- 46

गांधी मेडिकल कॉलेज (डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर) -- 320

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) -- 200

एडवांस मेडिकल कालेज (क्वारंटाइन सेंटर) -- 350

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan