भोपाल। मानसून आते ही घरों में अब गार्डनिंग शुरू हो जाएगी। गमलों और खुली जगह पर अब फूल और सब्जियां उगाई जाएंगी। कम लागत में यह ज्यादा फायदे का सौदा है। लोगों को कई चीजें खरीदनी नहीं पड़तीं। चाहे कोई सब्जी हो या छोटी-मोटी औषधी, लोग इस मौसम में घर में ही उन्हें उगा लेते हैं। इस मौसम में गार्डनिंग करते वक्त कई बातों का ख्याल रखना जरूरी है। बीज खरीदने के बाद उन्हें कम से कम एक दिन तक पानी में डूबा रहने दें। घर में गार्डनिंग करने के लिए टमाटर, करेला, कद्दू, मिर्च, धनिया आदि के सीड खरीद रहे हों तो इन्हें सीधे मिट्टी में न डालें, बल्कि मिट्टी को बार-बार उलटने के बाद ही रोपित करें। हम सजावटी और औषधीयुक्त पौधों को भी गार्डन में लगा सकते हैं।

गार्डनिंग के डिफरेंट ऑप्शन

इन दिनों में हेंगिंग गार्डन और टेरिस गार्डन को स्थापित किया जा सकता है। मार्केट में ऐसे कई तरह के प्लॉवर और विशेष तरह के पॉट बेचे जा रहे हैं, जिससे कि हेंगिंग गार्डन को घर में बड़ी खुबसूरती के साथ स्थापित किया जा सकता है। हेंगिंग गार्डन के लिए मार्केट में सियान, आईमैक्स, वुड के बने राउंड, स्केवयर, बॉल शेप और डिजाइन के पॉट की भरमार है।

फ्लॉवर्स : रोज आर्किड ,प्लूमेरिया , सन फलॉवर, कैमेलिया, फुलेन, साटीन फ्लॉवर, बरवेना, लेवेंडर ,बरबेना ,कैमोमाइल।

हर्बलः तुलसी, काली मिर्च, सुनहरा अजवाइन, लेमन ट्री, अजमोद, मिर्च, लहसून, अदरक।

वेजीटेबलः टमाटर, बैंगन, मटर, धनिया, पालक, सलाद

क्या कहना है इनका

बहुत कम लागत

मैं पिछले तीन साल से गार्डनिंग कर रही हूं। कम लागत में घर पर सब्जियों और फूलों को लगाया जा सकता है। मैं गार्डन में उगाई गई सब्जियों का ही उपयोग करती हूं।

-योगिता सिंह

ज्यादा मेहनत नहीं

मैं पिछले 15 सालों से गार्डनिंग कर रही हूं। मुझे इसके लिए ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती, बस थोड़ा ध्यान देना पड़ता है। मुझे अपने इस शौक की वजह से कई चीजें खरीदनी नहीं पड़तीं।

-गीताली मेहरा, प्रोफेशनल

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close