-शहर काजी ने घर पर ही इबादत करने और कब्रिस्तान न जाने की अपील

भोपाल। (नवदुनिया प्रतिनिधि)।

इस्लामी त्योहार शब-ए-बरात का पर्व 9 अप्रैल को श्रद्धा एवं भक्तिपूर्ण माहौल में मनेगा। शहर काजी मुश्ताक अली नदवी ने मुस्लिम समुदाय से अपील की है कि 9 अप्रैल को शब-ए-बरात के दिन घरों में रहकर इबादत करें। लॉकडाउन का सभी लोग पालन करें। कब्रस्तान न जाएं। ऑल इंडिया मुस्लिम त्योहार कमेटी के महासचिव काजी सैयद अनस अली ने बताया कि शब-ए-बारात के मौके पर लोग घरों में मीठा हलवा, खीर, मिठाई इत्यादि पकवान बनाकर फातेहाख्वानी कर गरीबों को तकसीम करेंगे। कोरोना से निजात पाने घर-घर में खुसूसी विशेष दुआएं की जाएंगी। शब-ए-बारात पर रात में मुस्लिम भाई अपने घरों में शब-बेदारी करेंगे। मुस्लिम पुरुष सारी रात इबादत करेंगे और महिलाएं व बच्चे घरों में इबादत करेंगे। यह सिलसिला अल सुबह तक जारी रहेगा। अनेक घरों में सेहरी और रोजा भी रखा जाएगा।

फैसलों की रात है शब-ए-बारात

ऑल इंडिया मुस्लिम त्योहार कमेटी के डॉ. औसाफ शाहमीरी खुर्रम ने बताया कि इस्लामी मत अनुसार शब-ए-बारात फैसलों की रात मानी जाती है। इस रात में अल्लाह पाक हर व्यक्ति की दुआ को कुबूल करता है और उसके गुनाहों को माफ करता है। यह भी माना जाता है कि इस रात में फरिश्ते दुनिया के सभी बंदों का साल भर का लेखा-जोखा भी अल्लाह पाक के समक्ष पेश करते हैं। जिस पर अल्लाह पाक अपनी कुदरत से फैसले फरमाता है और बंदों को खुशहाली, तंदरुस्ती और इनाम की रहमतों से नवाजता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस