भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। भोपाल रेल मंडल के रेलकर्मियों ने 12 दिन में 6600 मास्क और 1350 लीटर सैनिटाइजर बनाया बनाया है। इसका इस्तेमाल रेलकर्मी व उनके परिवार के लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए किया जा रहा है। अभी दोनों का उत्पादन बंद नहीं किया है, बल्कि लगातार जारी है।

रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक, यांत्रिक, इंजीनियरिंग, टीआरओ, परिचालन, डीजल शेड, विद्युत लोको शेड के रेलकर्मी मास्क बना रहे हैं। लॉकडाउन के पहले से यह काम चल रहा है। इनमें महिला रेलकर्मी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही हैं। अभी तक सभी रेलकर्मी 66 सौ से अधिक मास्क बना चुके हैं। ये सूती कपड़े के मास्क हैं, जो मंडल में ड्यूटी कर रहे रेलकर्मी व उनके परिजनों को वितरित किए जा रहे हैं। वहीं डीजल शेड में 750 लीटर और विद्युत लोको शेड में 500 लीटर सैनिटाइजर तैयार किया है। रेलवे उत्पादित सैनिटाइजर से मालगाड़ी ट्रेनों के इंजन, रेलवे के प्रतिदिन खुलने वाले दफ्तर और कॉलोनियों को सैनिटाइज कर रहा है। काम में जुटे इन रेलकर्मियों को डीआरएम उदय बोरवणकर व अन्य अधिकारी प्रोत्साहित कर रहे हैं। वहीं रेलवे कॉलोनियों को भी सैनिटाइज किया जा रहा है। इन कॉलोनियों में रेलकर्मी और उनके परिवार के सदस्य रहते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना