- यूजीसी ने पत्र लिखकर मांगे विश्वविद्यालयों से प्रस्ताव, 28 दिसंबर अंतिम तिथि

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

शैक्षणिक सत्र 2020 से विश्वविद्यालयों में महिला विद्वानों, प्रशासकों, कलाकारों, वैज्ञानिकों, पर्यावरणविदें और समाज सुधारकों के नाम पर 10 नई चेयर (पीठ) स्थापित होंगी। इन नई चेयर के माध्यम से छात्रों को गणित, प्रशासन, शैक्षिक सुधार, साहित्य, विज्ञान, स्वतंत्रता सेनानी, संगीत व अभिनव कला, औषधि, स्वास्थ्य, वन व वन्य जीवन आदि में पढ़ाई समेत रिसर्च पर भी काम करने को मिलेगा।

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के सचिव प्रो. रजनीश जैन की ओर से सभी विश्वविद्यालयों और राज्यों को पत्र लिखा गया है। प्रो. जैन के पत्र के मुताबिक, महिला कल्याण व बाल विकास मंत्रालय चेयर स्थापित कर रहा है। इसके लिए विश्वविद्यालयों को प्रस्ताव बनाकर यूजीसी को भेजना होगा। विश्वविद्यालय द्वारा प्रस्ताव भेजने की अंतिम तारीख 28 दिसंबर तय की गई है। इन नई चेयर को स्थापित करने के लिए आयोग की ओर से संस्थानों को अलग से बजट भी मुहैया करवाया जाएगा। इसमें शिक्षकों की नियुक्ति से लेकर रिसर्च व पढ़ाई का बजट भी मिलेगा।

- 5 साल होगा चेयर के प्रोफेसर का कार्यकाल

चेयर के प्रोफेसर का कार्यकाल पांच साल का होगा। हालांकि इस अवधि को आगामी पांच साल तक बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए चेयर प्राध्यापक की उम्र 70 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए। चेयर के प्रोफेसर का चयन विश्वविद्यालय के कुलपति नामांकित दो प्रख्यात व्यक्तियों वाली तीन सदस्यीय समिति की सिफारिश पर नामांकन या आमंत्रण के माध्यम से होगा।

चेयर का काम अनुसंधान, अध्ययन के क्षेत्र में सहयोग, सार्वजनिक नीति निर्माण में विश्वविद्यालय को मजबूत करना, अंतर विश्वविद्यालय, अंतर महाविद्यालय, स्नातकोत्तर व अनुसंधान स्तर संवाद, चर्चा बैठक, संगोष्ठी, समर व विंटर स्कूल शुरू करना है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket