भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। Bhopal News अशोका गार्डन इलाके में एक शातिर बदमाश ने खुद को तांत्रिक बताया और नगर निगम कर्मचारी को रकम दोगुना करने का झांसा दिया। उसकी बातों में आकर कर्मचारी ने 20 हजार रुपए एक बैग में रखवाए। आरोपित ने मंत्र पढ़ना शुरू किया और पीड़ित को आंखें बंद कर कुछ देर बाद खोलने को कहा। जब पीड़ित ने आंखें खोली तो 20 हजार रुपए की जगह बच्चों को चूर्ण में मिलने वाले नकली नोट की तीन गड्डियां मिली, वहीं आरोपित फरार हो गया। हालांकि शिकायत के बाद देर रात को पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। वह नकली नोट को असली बताकर लोगों को झांसा देता है।

अशोकागार्डन थाने के एसआई अनूप उईके के अनुसार एकतापुरी अशोकागार्डन निवासी अशोक वर्मा नगर निगम में वाचनालय सहायक हैं। रविवार शाम करीब साढ़े छह बजे वह सेमरा तिराहे के पास दोस्त के साथ खड़े होकर बातचीत कर रहे थे। इसी बीच एक युवक आया। उसने खुद को तांत्रिक बताकर कहा कि वह सिद्घ विद्या से रुपये दोगुना कर देता है। लालच के चलते अशोक उसके झांसे में आ गया।

मंत्र पढ़कर आंख बंद करने कहा और भाग गयाः पीड़ित अशोक ने बताया कि उसके पास बीस हजार रुपये थे। आरोपित ने अशोक के बैग के ऊपर एक लाल कपड़ा रखा। बैग में 20 हजार रुपये थे। इसके बाद अशोक को आंख बंद करने के लिए कहा। अशोक के आंखें बंद करते ही आरोपित मंत्र पढ़ने लगा। जब अशोक ने आंखें खोली तो बीस हजार रुपए का बैग लेकर आरोपित रफू चक्कर हो गया।

अशोक के बैग की जगह एक अन्य बैग मिला। खोलकर देखा तो उसने तीन गड्डियां उन नोटों की मिली, जो चूर्ण खरीदने के बदले बच्चों को दुकानदार देता है। शिकायत के बाद देर रात को पुलिस ने आरोपित को हिरासत में ले लिया। हालांकि उसकी गिरफ्तारी नहीं बताई है। वह उससे पूछताछ कर रही है। उससे और भी वारदातों के उजागर होने की संभावना है।

Posted By: Nai Dunia News Network