Guidline for Festival : भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के बीच त्योहारों के मद्देनजर सरकार ने द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार कोई भी सार्वजनिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं होगा। इसके साथ ही धार्मिक स्थलों पर केवल पांच लोग की पूजा-अर्चना कर सकते हैं। इसी गाइडलाइन के अनुसार कल प्रदेशभर के मंदिरों में जन्माष्टमी मनाई जाएगी। सभी मंदिरों में कृष्ण जन्म के समय केवल पांच ही लोग पूजन करेंगे। जन्माष्टमी के साथ ही गणेश उत्सव और मोहर्रम सहित किसी भी त्योहार पर गाइडलाइन के अनुसार कोई सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होंगे। वहीं जुलूस पर भी प्रतिबंध लगा रहेगा।

बुधवार को घर घर में 'नंद घर आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की' के मंगल गीतों से 12 अगस्त की रात 12 बजे सारा शहर गुंजायमान हो जाएगा। भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव की खुशियां और उत्साह मंदिरों, घरों में दिखाई देगा। भक्ति-भाव के साथ दही हांडियां फोड़ी जाएंगी और मक्खन मिश्री का भोग भगवान श्रीकृष्ण को लगाया जाएगा।

कोरोना संक्रमण के चलते ऑनलाइन दर्शन

इस वर्ष कोरोना के कारण सामूहिक मटकी फोड़ समारोह तो आयोजित नहीं होंगे। लोग अपने-अपने घरों में मटकी फोड़कर तीन लोक के स्वामी श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाएंगे। भोपाल के राधाकृष्ण मंदिरों में भी बड़े स्तर पर कोई आयोजन नहीं होगा। प्रशासन की गाइडलाइन के अनुसार सीमित संख्या में उचित शारीरिक दूरी के साथ भगवान श्रीकृष्ण की पूजा व आरती होगी। कई मंदिर समितियों ने निर्णय लिया है कि भक्तों को रात 12 बजे के जन्म के दर्शन ऑनलाइन कराए जाएंगे। लोग अपने-अपने घरों में ही रात 12 बजे पूजा-अर्चना करेंगे। मंदिरों में जन्माष्टमी को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं।

विशेष संयोगों में बनेगी जन्माष्टमी

इस साल कृष्ण जन्माष्टमी चार विशेष संयोगों में मनाई जाएगी। इसमें जहां पांच हजार साल पहले भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के समय अष्टमी बुधवार के दिन हुआ था। तो वहीं इस बार भी जन्माष्टमी उसी दिन मनाई जाएगी। इसके अलावा सर्वार्थ सिद्घि योग भी रहेगा। लेकिन इस बार रोहित नक्षत्र का संयोग नहीं बन रहा है। मां चामुंडा दरबार के पुजारी पंडित रामजीवन दुबे गुरुजी ने बताया कि सर्वार्थ सिद्घि योग में होने से भक्तों की मनोकामना पूरी होगी।

बाजारों से खरीद रहे पोशाक और फोटो

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की खरीदारी के लिए लोगों ने बाजारों का रुख करना शुरू कर दिया। राजधानी के विभिन्न बाजारों में बड़ी संख्या में लोग खरीदारी कर रहे हैं। कोरोना के कारण इस वर्ष मथुरा-वृंदावन से भगवान की पोशाक नहीं आ पाई हैं। लोग लड्डू गोपाल जी की प्रतिमा सहित भगवान श्रीकृष्ण के फोटो की जमकर खरीदारी कर रहे हैं। पोशाक व पूजन सामग्री की भी खरीदारी की जा रही है।

श्रीजी मंदिर लखेरापुरा : चांदी के रात में बिराजेंगे श्रीजी प्रभु

लखेरापुरा स्थित श्रीजी मंदिर में भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। जन्माष्टमी उत्सव के तहत सुबह 6 बजे भगवान श्रीनाथ जी का पंचामृत स्नान होगा। फिर दोपहर 12 बजे तिलकोत्सव एवं आरती होगी। रात 12 बजे जन्म के दर्शन होंगे। रात के समय कफ्र्‌यू होने के कारण वैष्णव जनों को श्रीजी मंदिर के फेसबुक पेज और सोशल मीडिया के अनेक माध्यम से लाइव दर्शन कराए जाएंगे।

बिरला मंदिर : 5 लोगों की मौजूदगी में मनेगा जन्मोत्सव

श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर (बिरला) में भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव कोरोना वायरस की गाइडलाइन के अनुसार 5 लोगों की मौजूदगी में ही मनेगा। मंदिर के प्रबंधक व सेवक के के पांडे ने बताया कि बधाों और बुजुर्गों को दर्शन के लिए प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मंदिर भक्तों के लिए दिन भर खुला रहेगा। भगवान जी की ड्रेस भी इस बार शहर में ही तैयार हुई है।

गुफा मंदिर : मंदिर समिति के लोग ही रहेंगे उपस्थित

लाल घाटी स्थित गुफा मंदिर के पुजारी पं. लेखराज शर्मा ने बताया कि इस बार कोरोना वायरस के कारण सिर्फ मंदिर समिति के लोगों की उपस्थिति में रात 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण की पूजा और महाआरती की जाएगी।

श्रीबांके बिहारी लाल मार्कंडेय मंदिर : भक्तों ने दी पीतल की गाय

चौबदारपुरा स्थित श्री बांके बिहारी लाल जी मार्कंडेय मंदिर में श्री बांके बिहारी लाल जी का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। रात में 10:30 बजे सहसतचान होगा। 12 बजे जन्म उत्सव आरती होगी। भक्तों द्वारा 21 किलो 515 ग्राम पीतल की गाय दी गई है। जिसकी कीमत 22 हजार रुपए है।

दादाजी धाम : कृष्ण जन्मोत्सव के साथ दादाजी का जन्मोत्सव

पटेल नगर स्थित दादाजी धाम मंदिर में कोरोना महामारी के कारण इस बार कृष्ण जन्माष्टमी एवं अनंत श्री दादाजी गुरुदेव का जन्मोत्सव छोटे रूप में मनाया जाएगा। इस अवसर पर श्री लड्डू गोपाल जी का अभिषेक दोपहर एक बजे शुरू होगा एवं पुष्पों से सहस्त्रार्चन किया जाएगा। श्रीकृष्ण एवं राधा जी का विशेष आर्कषक श्रंगार वस्त्रों एवं आभूषणों से किया जाएगा। रात 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण और 12:05 पर अनंत श्री दादाजी गुरुदेव साईंखेड़ा वालों की आरती की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020