Guru Purnima-2021: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। गुरु पूर्णिमा आज सर्वार्थसिद्धियोग में मनाई जा रही है। शिष्य अपने गुरूओं के प्रति सम्मान प्रकट करते हुए उनका पूजन-वंदन, आरती व चरण पखारकर आशीर्वाद ले रहे हैं। गुरु अपने शिष्यों को दीक्षा देकर जीवन में सफल होने के लिए गुरु मंत्र दे रहे हैं। साथ ही एक-एक पौधा लगाने के लिए दे रहे हैं। शहर के कई आश्रमों, मठों व मंदिरों में भी गुरु पूर्णिमा पर्व श्रद्धा के साथ मनाया जा रहा है। ज्योतिष शास्त्र में प्रीति और आयुष्मान योग का एक साथ बनना शुभ माना जाता है। प्रीति और आयुष्मान योग में किए गए कार्यों में सफलता हासिल होती है। विष्कुंभ योग को वैदिक ज्योतिष में शुभ योगों में नहीं गिना जाता है। ऐसे करें पूजागुरु पूर्णिमा पर पान के पत्ते, पानी वाले नारियल, मोदक, कर्पूर, लौंग, इलायची के साथ पूजन से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। सौ वाजस्नीय यज्ञ के समान फल मिलता है। गुफा मंदिर लालघाटी स्थित गुफा मंदिर में आज सुबह आठ बजे से गुरु पूर्णिमा महोत्सव शुरू हो गया है। महंत रामप्रवेश दास सबसे पहले गादी पूजन करेंगे। इसके बाद रामानंद आश्रम के शिष्यों सहित गुफा मंदिर के शिष्य महंत रामप्रवेश दास का पूजन-वंदन व आरती कर रहे हैं। मां चामुंडा दरबार के पुजारी रामजीवन दुबे गुरुजी ने बताया कि इस बार दरबार में गुरु पूर्णिमा सीमित लोगों की मौजूदगी में आयोजित हो रहा है। आशापुरा दरबार में गुरु पूर्णिमा महोत्सव सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक चलेगा। इसमें माताजी का पूजन उनके शिष्य करेंगे। कोरोना के चलते माताजी के चरणों को स्पर्श न करते हुए उनकी पादुकाओं को स्पर्श कर आशीर्वाद लेंगे। इसके बाद भजन भक्ति व सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा। गायत्री शक्तिपीठ एमपी नगर जोन-एक में सुबह 8:30 बजे से गुरु पूर्णिमा महोत्सव शुरू हो गया है। गायत्री शक्तिपीठ परिसर में सिर्फ वे शिष्य आ रह हैं, जिन्हें दीक्षा लेनी है। पीठ के मीडिया प्रभारी रमेश नागर ने बताया कि करीब 300 लोग गुरु दीक्षा लेने आएंगे। सभी गुरु दीक्षा लेने वालों को अलग-अलग समय दिया गया है। दादाजी धाम मंदिर पटेल नगर स्थित दादाजी धाम मंदिर में सादगी और श्रद्धा से गुरुपूर्णिमा महोत्सव मनाया जा रहा है। वहीं श्री दादाजी गुरुदेव चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष शिवरतन नामदेव एवं ट्रस्टी जीवन नामदेव ने बताया कि कोरोना के चलते अधिक लोगों को नहीं बुलाया है। इस दौरान अनंत श्री दादाजी गुरुदेव (साईंखेड़ा) एवं धूनीवाले दादाजी खंडवा वाले की पूजा की जा रही है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local