भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजा भोज एयरपोर्ट में सन 2011 तक जिस टर्मिनल से उड़ानों का संचालन होता था, उसका आधा हिस्सा तोड़ दिया गया है। दरअसल यह हिस्सा विमानों की सुरक्षित लैंडिंग में बाधा बना हुआ था। पायलट कई बार इसकी शिकायत एयरपोर्ट अथॉरिटी से कर चुके थे।

गौरतलब है कि अथॉरिटी ने पिछले माह इस टर्मिनल को हटाने का काम प्रारंभ किया था। काम लगभग पूरा हो गया है। मलबा उठाने के बाद टूटे हिस्से को वर्तमान रन-वे स्ट्रिप से जोड़ दिया जाएगा। काम पूरा होने के बाद इसे ऑपरेशनल क्षेत्र माना जाएगा। एयरपोर्ट अथॉरिटी यहां किसी भी प्रकार का निर्माण नहीं करेगी। पुराने टर्मिनल के आधे हिस्से में डोमेस्टिक कार्गो टर्मिनल का संचालन पहले की तरह होता रहेगा। मुख्यालय से स्वीकृति मिलने के बाद राजा भोज एयरपोर्ट अथॉरिटी ने पिछले माह ठेकेदार के मार्फत तोड़फोड़ शुरू की थी।

विमान लैंडिंग के समय होती थी असुविधा

नया टर्मिनल बनने के बाद विमानों का लैंडिंग प्वाइंट भी बदल गया। नया टर्मिनल उत्तरमुखी होने के कारण विमान दक्षिणी छोर से उतरते हैं। यहां पुराना टर्मिनल होने के कारण दिक्कत हो रही थी। सुरक्षा की दृष्टि से आखिर एयरपोर्ट अथॉरिटी को पुराना भवन तोड़ना पड़ा।

फिलहाल एटीसी भवन नहीं टूटेगा

पुराने टर्मिनल के अंतिम छोर पर एयर ट्रैफिक कंट्रोल रूम है। यहां से पहले की तरह ट्रैफिक संचालन होता रहेगा। एयरपोर्ट अथॉरिटी ने नए एटीसी भवन को स्वीकृति दे दी है पर काम शुरू नहीं हुआ है। नया भवन बनने तक पुराने कंट्रोल रूम को नहीं तोड़ा जाएगा।

पुराने टर्मिनल का कुछ हिस्सा रन-वे स्ट्रिप में आ रहा था, इसलिए उसे तोड़ा जा रहा है। इसे रन-वे से जोड़ दिया जाएगा। यह परिचालन क्षेत्र बन जाएगा। -अनिल विक्रम, एयरपोर्ट डायरेक्टर

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस