भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। मई का पहला पखवाड़ा बीतने को है। गर्मी चरम है। प्रदेश के कई जिलों में लू चल रही है। पारा 44-45 डिग्री सेल्सियस के स्‍तर को पार कर रहा है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक गर्मी के तीखे तेवरों से फिलहाल राहत मिलने वाली नहीं है। ऐसी चिलचिलाती गर्मी में अपनी सेहत का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। इसके लिए आपको अपने खानपान पर भी ध्यान देना होगा, ताकि इस भीषण गर्मी में आप बीमार न पड़ जाएं। यहां जानिए कि गर्मी के सीजन में किस तरह का खानपान अपनाकर हम खुद को स्वस्थ एवं तरोताजा रख सकते हैं।

तरल पदार्थ ज्‍यादा लें

चिलचिलाती गर्मी आपका लगातार पसीना निकालती है। ऐसे सीजन में यह ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि आपके शरीर में पानी की कमी न होने पाए। इसके लिए दिन में कम से कम 8 से 10 गिलास पानी जरूर पीएं। इस सीजन छाछ, लस्सी, कच्चे आम का पना , बेल या सत्तू का शरबत बहुत फायदेमंद है। इसके अलावा मौसमी फल जैसे खरबूज, तरबूज, आम, संतरा, खीरा, ककड़ी का नियमित सेवन करते रहें।

चाय, काफी, कोल्ड ड्रिंक्स से करें परहेज

गर्मी में चाय और कॉफी जैसे गर्म पेय पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए। अगर लेना ही है तो दिनभर में आप दो कप से ज्यादा न लें। इसका ज्यादा सेवन आपके शरीर पर बुरा प्रभाव डाल सकता है। इसी तरह शीतल पेय जैसे कोल्ड काफी, कोल्ड ड्रिंक्स, एनर्जी ड्रिंक, पैकबंद फ्रूट जूस आदि के सेवन से बचना चाहिए।

बासी भोजन न करें

गर्मियों में बासी भोजन से परहेज करना चाहिए। ताजा भोजन ही खाएं। इस सीजन में पकी हुई सब्जी-दालें आदि जल्दी खराब हो जाती हैं। इसके अलावा गर्मियों में सुपाच्य भोजन को ही तरजीह दें। गरिष्ठ भोजन इस मौसम में आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

तले, मसालेदार व्‍यंजनों से करें परहेज

सर्दी के सीजन के मुकाबले गर्मियों में हमारी जठराग्नि कमजोर होती है। लिहाजा, गर्मी में तला-भुना या मसालेदार व्‍यंजनों का सेवन शरीर के लिए नुकसानदेह हो सकता है। इस तरह का भोजन आपकी पाचन शक्ति बिगाड़ सकता है. जिससे आपको कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। गर्मियों में खाना हल्का व आसानी से पचने वाला होना चाहिए। रात में खिचड़ी, दलिया जैसे सुपाच्‍य भोज्‍य पदार्थ का सेवन ही बेहतर है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local