भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। ऐसा आपको लगता है कि बिजली कंपनी खपत से अधिक राशि के बिजली बिल दे देती है। ऐसा कोई कर्मचारी चाहकर भी नहीं कर सकता, क्योंकि पूरी व्यवस्था आनलाइन है। आपका मीटर आपके घर में लगा है, उसमें रीडिंग दिखाई दे रही है। ऐसी स्थिति में खपत से अधिक रीडिंग नोट करके बिल जारी नहीं कर सकते। अक्सर गर्मी के दिनों में खपत बढ़ जाती है, जिसके कारण अधिक राशि के बिल आना स्वाभाविक है। मेरे घर का बिल भी गर्मी में बढ़कर आता है। तब भी आपको लगता है कि बिल खपत के मुकाबले कहीं अधिक राशि का आया है, तो मीटर की जांच करें, उसमें देखें कि रीडिंग कितनी बता रहा है। फिर बिल में लिखी रीडिंग से मिलान करें। यदि अंतर है तो बिजली कंपनी को शिकायत करें। उसका समाधान करेंगे। गड़बड़ी मिलने पर कार्रवाई भी की जाएगी। यह जवाब उपभोक्ताओं को मध्य क्षेत्र बिजली कंपनी भोपाल शहर वृत्त के महाप्रबंधक जाहिद अजीज खान ने दिए। वह 'हेलो नवदुनिया' संवाद कार्यक्रम में उपभोक्ताओं से दूरभाष पर बात कर रहे थे। इस कार्यक्रम में दर्जनों उपभोक्ताओं ने काल कर समाधान पाया।

कुछ यूं चला सवाल-जवाब का सिलसिला

- खपत से अधिक रीडिंग का बिल दे दिया। सुधार भी नहीं किया। क्या करें? (विनय सिंह, भानपुर)

जवाब:- खपत से अधिक राशि के बिल नहीं दे सकते। फिर भी उपभोक्ता क्रमांक बता दीजिए। जांच करवाकर आपको सूचित करेंगे।

- लोगों का कहना है कि अधिक राशि के बिजली बिल दिए जा रहे हैं? (उमाशंकर तिवारी, बागसेवनिया)

जवाब:- उपभोक्ताओं की जानकारी भेज दीजिए। जांच कराएंगे। गर्मी में अधिक बिजली खपत होती है, इसलिए रीडिंग बढ़ जाती है।

- पहले नजदीक की लाइन से आपूर्ति देते थे। उसे बंद करके दूर से दी जा रही है, ऐसा क्यों? (सईद यूसुफ, एयरपोर्ट क्षेत्र)

जवाब: नजदीक से ही आपूर्ति दी जानी चाहिए। उस क्षेत्र में कोई व्यवधान उत्पन्न हुआ होगा, इसलिए व्यवस्था में बदलाव किया होगा। जांच कराएंगे।

- टोल फ्री नंबर 1912 पर उपभोक्ता क्रमांक क्यों पूछते हैं? (वर्षा राठौर, कोटरा)

जवाब : मोबाइल नंबर पंजीकृत होगा तो उपभोक्ता क्रमांक नहीं पूछते हैं, इसलिए नंबर पंजीकृत करवा लें। कंपनी के नंबर 0755-2551222 पर दी गई चैटबोट सेवा शिकायत दर्ज कराने के लिए सबसे आसान है, जिसका उपयोग कर सकते हैं। वैसे ग्राहक सेवा केंद्र में शिकायत सुनने के इंतजामों में विस्तार किया गया है।

- लोग बिजली चोरी करते हैं, जिसकी वजह से परेशानी होती है, क्या करें? (मोहम्मद खालिक, चौकी इमामबाड़ा)

जवाब :- चोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। आप लोग भी सूचना देकर कंपनी की मदद कर सकते हैं। आपका नाम गोपनीय रखेंगे। चोरी प्रकरण में जो राजस्व मिलेगा, उसका मामूली अंश सूचना देने वाले को भुगतान करने की व्यवस्था है। बिजली चोरी रुकवाने में आम लोगों का सहयोग जरूरी है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close