भोपाल। हाई प्रोफाइल हनीट्रैप में फंसी मोनिका यादव उर्फ सीमा सोनी को लेकर इंदौर पुलिस सोमवार को राजधानी में आरती दयाल के अयोध्या बायपास पर सागर लैंडमार्क स्थित फ्लैट में पहुंची। आरती के ए ब्लॉक में किराये के फ्लैट नंबर 112 की तस्दीक कराई गई। इससे पहले मोनिका को उसके निजी कॉलेज में ले जाया गया।

जहां से उसकी 10वीं, 12वीं की अंकसूची और बाकी रिकार्ड पुलिस ने जब्त किए । बताया जा रहा है कि वह पत्रकारिता का कोर्स कर रही है। जिस नामचीन रेस्टारेंट में इस गिरोह की बैठकें होती थीं, उसकी भी तस्दीक की गई। बाद में पुलिस मोनिका को लेकर राजगढ़ के लिए रवाना हो गई। वहां उसके परिजनों से उसके बारे में जानकारी जुटाई जाएगी।

इंदौर नगर निगम के अधीक्षण यंत्री रहे हरभजन सिंह की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर पुलिस ने श्वेता विजय जैन, श्वेता स्वाप्निल जैन, आरती दयाल, मोनिका यादव उर्फ सीमा सोनी और बरखा सोनी को गिरफ्तार किया था। लंबी पूछताछ के बाद पुलिस ने तीन महिलाओं को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया था। आरती दयाल और मोनिका उर्फ सीमा को 27 सितंबर तक रिमांड पर लिया गया है।

आरती हुई बीमार

मोनिका और आरती की रिमांड मिलने के बाद इंदौर की पलासिया पुलिस दोनों को लेकर भोपाल आने वाली थी, लेकिन आरती की तबीयत खराब होने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया । मोनिका को लेकर इंदौर पुलिस दोपहर बाद भोपाल पहुंची ।

निजी कॉलेज से जब्त किए दस्तावेज

टीआई पलासिया शशिकांत चौरसिया का कहना है कि मोनिका को भोपाल के भानपुर स्थित एक निजी कॉलेज ले लाया गया। मोनिका इस कॉलेज से पत्रकारिता का कोर्स कर रही है। कॉलेज से उसके दसवीं व 12वीं कक्षा की अंकसूची और अन्य दस्तावेज का रिकार्ड जब्त किया गया। ताकि उसकी उम्र के बारे में जानकारी जुटाई जा सके। उसके बाद जिस फ्लैट में वह आरती दयाल के साथ रही, उसकी तस्दीक कराई गई है। मीनाल में श्वेता विजय जैन के मकान की तस्दीक भी कराई है।

नामी गिरामी रेस्टोरेंट पर भी लेकर पहुंची

पुलिस सूत्रों की मानें तो इंदौर पुलिस मोनिका को लेकर भोपाल में लिंक रोड-1 पर स्थित एक नामी गिरामी रेस्टोरेंट पर लेकर गई। मोनिका ने पुलिस को बताया कि इसी रेस्टोरेंट पर उसकी उसकी ज्यादा लोगों से मुलाकत होती थी। बताया जा रहा है कि इसी रेस्टोरेंट से ही उस दिन मोनिका और आरती साथ में निकले थे, जहां इंदौर पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया था।

रजिस्ट्री के चाहिए थे लाखों स्र्पए

पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि इस नवदुर्गा उत्सव में श्वेता जैन को एक प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री करानी थी। इसके लिए उसे लाखों स्र्पए की जरूरत थी। रुपयों की व्यवस्था के लिए आखिरी बैठक श्वेता , आरती और मोनिका की इसी रेस्टारेंट में रखी गई थी। पुलिस ने जांच में इस जानकारी को भी शामिल कर लिया गया है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020