भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। भाजपा के पूर्व मंत्री और वर्तमान विधायक के ठेकेदार भतीजे को रेप के झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर एक करोड़ रुपए की अड़ीबाजी करने वाली महिला चार दिन बाद भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। पुलिस ने उसकी तलाश में सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात न्यू मार्केट के कुछ हिस्सों में रातभर छापेमारी की। उसके बाद भी वह हाथ नहीं आ सकी है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है।

थाना प्रभारी संध्या शर्मा के मुताबिक चाणक्यपुरी सीहोर निवासी मुकेश वर्मा (46) ठेकेदार हैं। उनके साथ हुई मारपीट, ब्लेकमेलिंग और अड़ीबाजी के मामले में आरोपित सोनाली दातरे, आरती ठाकुर व उनके दो साथियों की पुलिस तलाश कर रही है। आरोपितों से फरियादी के एक लाख नौ हजार रुपये स्कार्पियो गाड़ी बरामद होना है। उसके लिए उसकी तलाश में लगातार छापेमारी की जा रही है, लेकिन वह हर बार अपना ठिकाना बंदल रही है।

डेढ़ साल पहले हुई थी जान-पहचान

पुलिस को मामले की जांच के दौरान पता चला है कि आरोपी सोनाली दातरे के पिता सीहोर के रहने वाले हैं। उनका एक मकान सीहोर में है। करीब डेढ़ साल पहले फरियादी मुकेश वर्मा ने सोनाली के पिता का मकान खरीदा था। इसी दौरान दोनों में जान-पहचान हुई और दोस्ती हो गई थी। इसके बाद मुकेश वर्मा अक्सर सोनाली से मिलता था। दोनों कई बार शहर से बाहर भी घूमने जा चुके हैं।

क्या है मामला

भाजपा सरकार के पूर्व मंत्री और वर्तमान विधायक के भतीजे मुकेश वर्मा पेशे से कांट्रेक्‍टर हैं। विगत बुधवार रात सोनाली दातरे और आरती ठाकुर उसे पार्टी करने के बहाने खजूरी सड़क इलाके के एक मकान पर लेकर पहुंचीं। जहां पर उन्होंने मुकेश को शराब पिलाई। इसके बाद दो नकाबपोश साथियों से कांट्रेक्टर के साथ रूम में मारपीट कराई और एक करोड़ रुपए मांगे। इतना ही नहीं, बदमाशों ने जबरन उनके मोबाइल से आरती ठाकुर के खाते में 1.09 लाख रुपए ट्रांसफर कर लिए। वारदात के बाद वह मुकेश को छोड़कर उसकी गाड़ी लेकर फरार हो गए थे। इसके बाद मुकेश को उसके दोस्तों ने बैरागढ़ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उसे एक प्राइवेट अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। बताया जा रहा है कि बदनामी के डर से फरियादी पहले आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज नहीं करा रहा था। लेकिन दोस्तों के समझाने पर उसने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। आरोपित सोनाली उसे केस वापस लेने के लिए भी धमका रही है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close