Honey Trap Part-2 in MP : भोपाल (नईदुनिया ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में करीब 10 माह पहले हनी ट्रैप के जिस मामले ने सियासी भूचाल ला दिया था, अब भोपाल के वरिष्ठ पत्रकार प्यारे मियां की करतूत उजागर होने के बाद उसके दूसरे अध्याय की शुरुआत हो गई है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र ने प्यारे मियां पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। अब उसके गुनाहों की फेहरिस्त परत-दर-परत खुलने लगी है। संकेत मिल रहे हैं कि प्यारे के गुनाहों में शामिल राज्य में कई और सफेदपोश बेनकाब होंगे।

बेटियों के विरुद्घ अपराध करने वाले प्यारे मियां की काली कहानी भोपाल में किसी से छिपी नहीं है, लेकिन पहली बार वह पुलिसिया फंदे में फंसा है। उसकी पैरवी में भी कई हस्तियां सक्रिय हो गई हैं, ताकि उसके गुनाहों पर पर्दा पड़ा रहे, लेकिन मुख्यमंत्री ने जिस तरह की सख्ती दिखाई और कार्रवाई के लिए अफसरों को खुली छूट दी है, उससे पुलिस कार्रवाई का मुकाम तक पहुंचना तय माना जा रहा है।

कम उम्र की लड़कियों को रसूखदारों तक भेजता था

अब तक की छानबीन में पुलिस को प्यारे मियां के काले धंधे के कई राज पता चले हैं। कम उम्र की गरीब लड़कियों को वह रसूखदारों को भेजकर अपने जाल में फंसाता और अपने कारोबार को आगे बढ़ाया। पूर्व मंत्रियों से लेकर अफसरों से भी प्यारे के घनिष्ठ संबंध हैं और शिवराज सरकार अब इस खेल को उजागर कर कड़ी कार्रवाई का मन बना चुकी है।

शिवराज ने एक दिन पूर्व की समीक्षा में दो टूक कह दिया कि बेटियों के विरूद्घ अपराध करने वाले मानवता के दुश्मन हैं और मैं उन्हें छोडूंगा नहीं। ऐसे अपराधों में संलग्न सफेदपोशों को चिह्नित कर उनके विरुद्घ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। इसी के साथ पुलिसिया अभियान भी शुरू हो गया। प्यारे मियां की राज्य स्तरीय पत्रकार की अधिमान्यता निरस्त करने के साथ ही उसे मिली सरकारी सुविधाओं को भी निरस्त कर दिया गया है।

ऐसे खुली प्यारे के देह व्यापार का रैकेट चलाने की पोल

ध्यान रहे कि रविवार तड़के चार नाबालिग समेत पांच लड़कियां भोपाल के रातीबड़ थाना इलाके में संदिग्‍ध अवस्था में मिलीं तो प्यारे मियां की पोल खुली। प्यारे मियां ने इन लड़कियों को शाहपुरा थाना क्षेत्र में आयोजित बर्थडे पार्टी के लिए बुलाया था। एक फ्लैट में इन लड़कियों का दैहिक शोषण किया गया। खुद प्यारे ने भी इन बालिकाओं के साथ दुराचार किया। छानबीन में पता चला कि प्यारे मियां एक बहुत बड़े देह व्‍यापार के रैकेट के संचालन से जुड़ा है और इसमें शामिल लोगों का बड़ा नेटवर्क है।

हनी ट्रैप के बाद एक बार फिर वीआइपी सहमे

करीब छह माह पूर्व भोपाल में ही हनी ट्रैप गिरोह का भंडाफोड़ हुआ था। तब भी नेताओं व अफसरों के कुछ महिलाओं से अवैध रिश्तों को लेकर बवाल मचा था। उसके बाद यह दूसरा मौका है जब कई वीआइपी फिर सहम गए हैं। प्यारे मियां से उनके करीबी रिश्तों ने उनकी नींद उड़ा दी है। पुलिस प्यारे मियां के नेटवर्क में पीड़ित हुई अन्य लड़कियों के बयान लेने में जुटी है। इसके बाद गिरफ्तारी का दायरा बढ़ेगा

इंदौर में कई नेताओं और बिचौलियों से रहे संबंध

प्यारे मियां के इंदौर में कई विधायकों, पूर्व विधायकों, पार्षदों और बिचौलियों के अलावा उद्योगपतियों से भी संबंध रहे हैं। बताते हैं कि वहां लाला रामनगर के एक बंगले में रंगीन पार्टियां भी आयोजित होती रही हैं और अब पुलिस सीसीटीवी फुटेज की तलाश में जुटी है क्योंकि वहां आने-जाने वालों की रिकॉर्डिंग भी होती रही है।

लड़कियों के बूते जमीनों पर अवैध कब्जे का खेल

नाबालिग लड़कियों से लेकर पेशेवर लड़कियों की आपूर्ति कर प्यारे मियां ने जमीनों के अवैध कब्जे का खेल शुरू किया। धीरे-धीरे उसने अपने नेटवर्क में काफी जमीन बना ली और अब वह भू-माफिया की श्रेणी में भी आने वाला है। इंदौर से लेकर भोपाल तक प्यारे मियां की इस करतूत के चर्चे पहले भी होते रहे हैं, लेकिन अब पुलिस बाहर के क्षेत्रों में भी उसके संपर्क तलाश रही है। प्यारे मियां अपने अभियान के लिए गुनाहों की दुनिया में देह का स्वाद चखाकर रसूखदारों के साथ-साथ गैंगस्टर से भी संबंध रखता था। अब उसके सभी संपर्कों को खंगाला जा रहा है और पीड़ित लड़कियां भी उसके गुनाहों का राज खोलने लगी हैं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020