भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। हनी ट्रैप में अफसर, नेता और व्यापारियों को अपने जाल में फंसाकर ब्लैकमेल करने के आरोप में गिरफ्तार श्वेता जैन के मीनाल रेसीडेंसी स्थित घर पर सन्नाटा है। उसके यहां काम करने वाली महिलाओं को आने से मना कर दिया गया है। शुक्रवार को उसके पड़ोसियों के बीच एक ही चर्चा रही कि श्वेता बिजनेस टायकून जैसी लक्जरी लाइफ जीती थी, लेकिन हमसे ज्यादा मतलब नहीं रखती थी। कुछ ने बताया कि गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात श्वेता के घर के बाहर खड़ी ऑडी कार न जाने कौन ले गया।

श्वेता दिखती तो सीधी-साधी थी, लेकिन ऐसे काले काम करती थी, इसकी भनक नहीं लगी। बता दें कि इंदौर में नगर निगम के इंजीनियर हरभजन सिंह से तीन करोड़ की ब्लैकमेलिंग के आरोप में हनी ट्रैप का खुलासा हुआ है। इसमें भोपाल और राजगढ़ की पांच महिलाओं को गिरफ्तार किया गया। इसमें से श्वेता जैन मीनाल रेसीडेंसी में अपने बेटे और पति के साथ रहती थी।

सुबह से आना शुरू हो जाती थीं लक्जरी गाड़ियां

मीनाल रेसीडेंसी में रहने वाले पड़ोसी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि श्वेता के घर के बाहर सुबह से ही लक्जरी कारों का आना शुरू हो जाता था। इनमें शासकीय गाडियां भी होती थीं। श्वेता का रहन-सहन काफी हाईप्रोफाइल था। वह हमें बताती थी कि दिल्ली और मंडीदीप में उसकी फैक्ट्रियां हैं। इस सिलसिले में लोग उससे मिलने आते हैं। वह चार साल पहले से मिनाल में रह रही थी।

एमएमएस वायरल होने के बाद पूर्व मंत्री ने की थी मदद

श्वेता जैन का 2014 में एमएमएस वायरल हुआ था। उसके बाद से उसने राजनीतिक गालियारों से दूरी बना ली थी। वह चाहती थी कि उसको एमएमएस में क्लीनचिट मिल जाए, उसने भोपाल सायबर सेल से मदद मांगी। जहां अफसरों से मुलाकत हुई, लेकिन उसकी क्लीनचिट में एक इंस्पेक्टर ने रोड़ा अटका दिया था। जिसके बाद उसने एक पूर्व मंत्री से मदद मांगी थी। उन्होंने उसकी मदद की थी। बताया जाता है कि बाद में उसको क्लीनचिट भी मिल गई थी। इसके बाद वह पूर्व मंत्री की करीबी हो गई और पूर्व मंत्री का भी एक वीडियो बना लिया था। बाद में पूर्व मंत्री ने उनको एक भूखंड भी दिया था

घर के बाहर थी मर्सडीज और ऑडी कार

श्वेता अपनी मर्सडीज और ऑडी कार को दूसरे के घर के बगल में खड़ी करती थी। इससे लोग आसानी से समझ नहीं पाते थे कि कारें किसकी हैं। कोने का मकान होने के कारण वह इसका पूरा फायदा उठाती थी। गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात में कोई व्यक्ति उसकी ऑडी कर लेकर चला गया। हालांकि, काले रंग की मर्सडीज वहीं है। यह कार श्वेता के नाम पर ही आरटीओ भोपाल में रजिस्टर्ड है।

राजनेताओं के फेसबुक से गायब हुई बरखा

हनी ट्रैप में गिरफ्तार बरखा सोनी के राजनेताओं के साथ के कई फोटो गुरुवार तक उसके फेसबुक प्रोफाइल पर नजर आ रहे थे। लेकिन शुक्रवार सुबह उन राजनेताओं के फोटो हटा दिए गए। इस बात की चर्चा पूरे दिन शहर में चलती रही।