Bhopal Health News: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। हीमोग्लोबिन की कमी से कई बीमारियां हो सकती हैं। अत: सावधानी बहुत जरूरी है। किसी भी व्‍यक्‍ति के शरीर में हीमोग्लोबिन कम होने पर योग्य चिकित्सक की देखरेख में उसका इलाज करवाना चाहिए। बैरागढ़ में स्‍थित संत हिरदाराम कॉलेज के क्लीनिकल न्यूट्रिशन एंड डायटेटिक्स विभाग की ओर से आयोजित वेबिनार में विशेषज्ञों ने यह बात कही। मुख्य वक्ता डॉ. हर्षा भटनागर ने कहा कि हीमोग्लोबिन आमतौर पर शरीर में आक्सीजन परिवहन करने वाला धातु प्रोटीन है। यह फेफड़ों को भी ऑक्सीजन पहुंचाता है। इसकी कमी से बीमारियां होने की शुरूआत होती है। अत: सावधान रहना जरूरी है।

डॉ. हर्षा ने कहा कि हीमोग्लोबिन लाल रक्त कोशिकाओं एवं कुछ ऊतकों में पाया जाने वाला लोह तत्व युक्त प्रोटीन भी माना जाता है। यह मनुष्य की प्रजनन क्षमता एवं शरीर का चुस्त रखने में मदद करता है। हीमोग्लोबिन की कमी को गंभीरता से लेना चाहिए। समय-समय पर जांच करानी चाहिए।

कोरोना महामारी के समय सतर्कता जरूरी

वेबिनार के दौरान विभागाध्यक्ष डॉ. विभा खरे ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण लोग संकट में हैं। ऐसे समय में किसी भी बीमारी को कम नहीं समझता चाहिए। लापरवाही बीमारी को बढ़ावा दे सकती है। इस समय ऑक्सीजन की कमी के मामले अधिक सामने आ रहे हैं। हीमोग्लोबिन कम होना ऑक्सीजन कम होने का संकेत हो सकता है। योग्य चिकित्सक की देखरेख में जांच एवं उपचार कराने की जरूरत है। प्राचार्य डॉ. डालिमा पारवानी ने भी अपने विचार रखे। कॉलेज के निदेशक हीरो ज्ञानचंदानी ने सफल वेबिनार आयोजन के लिए सदस्‍यों को बधाई और शुभकामनाएं दीं। ज्ञानचंदानी ने कहा कि समय-समय पर आयोजित वेबिनार से बहुत कुछ सीखने को मिलता हैं। वेबिनार में बड़ी संख्या में कॉलेज की छात्राओं ने भी हिस्‍सा लिया।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close